केवल अपने पति के बगल में बैठने से नोटिस दिया जाना आश्चर्यजनक, दुर्भाज्ञपूर्ण : रेनु जोगी


रायपुर : छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पत्नी और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता रेनु जोगी ने पार्टी की नोटिस का जवाब देते हुए कहा है कि केवल अपने पति के बगल में बैठने को लेकर उन्हें नोटिस दिया जाना आश्चर्यजनक, दुखद और दुर्भाज्ञपूर्ण है। रेनु ने आज यहां भाषा को बताया कि आज उन्होंने छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नोटिस का जवाब दे दिया है।

 छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री गिरीश देवांगन को भेजे अपने स्पष्टीकरण में रेनु ने कहा है कि वह इस महीने की पांच तारीख को नवाखाई त्योहार मनाने सपरिवार बिलासपुर जिले के जोगीसार गांव गई थीं। यह एक धार्मिक और परंपरागत त्योहार है जो घर के आंगन में संपन्न हुआ था। रेनु ने कहा है कि वह इस दौरान न किसी अन्य दल की यात्रा में शामिल हुई, न ही उन्होंने भाषण दिया और न ही अपनी पार्टी के खिलाफ कहीं भी कुछ आपथिजनक टिप्पणी की।

 कांग्रेस पार्टी को लिखे पत्र में कोटा क्षेत्र की विधायक ने कहा है कि केवल अपने पति के बगल में बैठने और त्योहार के दिन सपरिवार साथ रहने के कारण उन्हें यह नोटिस दिया जाना आश्चर्यजनक, दुखद और दुर्भाज्ञपूर्ण है। उन्होंने कहा है कि कई बार एक परिवार के सदस्य अलग-अलग राजनीतिक विचारधारा से जुड़ रहते हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि वे पारिवारिक कार्यक्रमों में एक साथ कहीं आ जा नहीं सकते। इस महीने की छह तारीख को प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने रेनु जोगी से स्पष्टीकरण मांगा था कि समाचार पत्रों के मुताबिक उन्होंने अपने पति अजीत जोगी की पार्टी छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के कार्यक्रम में उनके साथ मंच साझा किया था। गौरतलब है कि कांग्रेस ने रेनु को जारी पत्र में कहा था कि सार्वजनिक रूप से किसी अन्य दल के मंच को साझा किए जाने से मीडिया में कांग्रेस पार्टी की छवि धूमिल हुई है। पार्टी ने रेनु जोगी से सात दिनों में स्पष्टीकरण मांगा था।