पुलिस ने नक्सलियों के खिलाफ दर्ज की प्राथमिकी


सुकमा: छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के ङ्क्षछदगढ़ ब्लॉक में नक्सलियों ने जन अदालत लगाकर सरपंच सहित चार ग्रामीणों से मारपीट किए जाने के मामले में पुलिस ने नक्सलियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। पुलिस सूत्रों के अनुसार कल ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने यह प्राथमिकी दर्ज की। बताया गया है कि ग्राम पंचायत कुंदनपाल में माओवादियों ने रविवार को जन अदालत लगाकर डोलेरास सरपंच मुचाकी सुकड़ा के साथ ग्रामीण लखमा, अन्नू और बुधरा मंडावी की जमकर पिटाई की। मारपीट के बाद सरपंच सुकड़ा की हालत काफी गंभीर है।  इसके बावजूद नक्सली डर से परिजन सुकड़ा का इलाज कराने अस्पताल लेकर नहीं आ रहे हैं।

बताया गया है कि कुंदनपाल के पांडूपारा में कटेकल्याण एरिया कमेटी के सचिव एवं नक्सली कमांडर जगदीश ने जन अदालत लगाकर डोलेरास सरपंच मुचाकी सुकड़ा पर जेल में बंद अपने साथियों को रिहा कराने जरूरी प्रयास नहीं करने का आरोप लगाते हुए बंदूक के बट और डंडे से बेदम पिटाई की।

इसके अलावा, माओवादियों ने जन अदालत में डोलेरास निवासी लखमा मंडावी, अन्नू मंडावी और बुधरा मंडावी पर पुलिस का मुखबिर होने का आरोप लगाते उनकी जमकर पिटाई की और उनके मोबाइल लूट लिये। पाण्डूपारा में बड़ी संख्या में नक्सलियों के जमावड़े की सूचना मिलने के बाद कुकानार टीआई सलीम खाखा की अगुवाई में जवानों की अलग-अलग टुकड़ी पांडूपारा के लिए रवाना हुई थी। फोर्स के आने की भनक लगते ही नक्सली आनन-फानन में जन अदालत खत्म कर भाग खड़े हुए।