रमन ने बनाया रिकॉर्ड


रायपुर:साधारण किसान परिवार में जन्म लेकर पार्षद से राजनीतिक सफर शुरू करने वाले छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डा. रमन ङ्क्षसह इसी सप्ताह लगातार पांच हजार दिन पद पर रहने का रिकार्ड बनाते हुए केन्द्र एवं राज्यों में लगातार राजनीतिक सफलता अर्जित कर रही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)के पहले मुख्यमंत्री बन जायेंगे।

डा. ङ्क्षसह 14 अगस्त को अपने कार्यकाल के पांच हजार दिन पूरे करते हुए लगातार पद पर बने रहने वाले भाजपा के मुख्यमंत्रियों में पहले स्थान पर जबकि देश के मौजूदा मुख्यमंत्रियों में चौथे स्थान पर बने हुए हैं। मौजूदा मुख्यमंत्रियों में डा. ङ्क्षसह से अधिक समय से मुख्यमंत्री रहने वालों में सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग पहले, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री मणिक सरकार दूसरे तथा ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक तीसरे स्थान पर हैं।

पिछले वर्ष ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गुजरात के 4610 दिन तक का मुख्यमंत्री रहने का रिकार्ड तोड़ चुके डा. ङ्क्षसह के कार्यकाल के आसपास भी इस समय कोई भाजपा शासित राज्य का मुख्यमंत्री नहीं है। मोदी ने यह रिकार्ड चार बार के कार्यकाल में बनाया था जबकि रमन ने उन्हें तीसरे कार्यकाल में ही पीछे छोड़ते हुए नया रिकार्ड बनाया है। भाजपा में उनके कार्यकाल के नजदीकी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज ङ्क्षसह चौहान हैं, जोकि अभी तक 4271 तक का कार्यकाल पूरा कर चुके हैं।

डा. ङ्क्षसह लगातार पद पर रहकर पांच हजार दिन पूरा करने जा रहे हैं। इसी के साथ वह लगातार पांच हजार या उससे अधिक दिन रहने वाले ‘टाप टेनÓ मुख्यमंत्रियों में शामिल हो जायेंगे। वैसे तो पांच हजार दिन और उससे अधिक कार्यकाल वाले मुख्यमंत्रियों की सूची में डा. ङ्क्षसह 13वें स्थान पर हैं, पर कई ने ब्रेक कर यह रिकार्ड बनाया है। लगातार 8532 दिन मुख्यमंत्री रहने का रिकार्ड बनाने वाले स्वं ज्योति बसु अभी भी पहले स्थान पर बने हैं।

मध्यप्रदेश को विभाजित कर 2000 में बने छत्तीसगढ़ में 2003 में पहली बार विधानसभा के चुनाव हुए जिसमें भाजपा के सत्ता में आने पर डा. ङ्क्षसह ने पहली बार 07 दिसम्बर 2003 को मुख्यमंत्री के पद की शपथ ली थी। लगातार तीसरे कार्यकाल में वह आगामी 14 अगस्त को मुख्यमंत्री के रूप में पांच हजार दिन का कार्यकाल पूरा कर लेंगे। अभी जबकि तीसरे कार्यकाल का लगभग 16 महीने शेष हंै।

छत्तीसगढ़ के साथ ही दो और राज्यों मध्यप्रदेश एवं राजस्थान में भी भाजपा 2003 में सत्ता में आई थी। मध्यप्रदेश में तो वह छत्तीसगढ़ की तरह लगातार सत्ता में बनी है पर जहां डा.ङ्क्षसह के पास लगातार छत्तीसगढ़ की बागडोर बनी हुई है वहीं दूसरी ओर वहां भाजपा दो मुख्यमंत्री बदल चुकी है, और तीसरे मुख्यमंत्री शिवराज ङ्क्षसह चौहान का कार्यकाल अभी तक 4271 दिन ही पूरा हुआ है।

डा. ङ्क्षसह भाजपा के सर्वाधिक कार्यकाल वाले मुख्यमंत्री बनने के साथ ही शायद पार्टी के पहले मुख्यमंत्री होंगे,जोकि व्यक्तिगत रूप से कभी विवादों में नहीं घिरे है। तीसरे कार्यकाल में विपक्षी दल हालांकि लगातार उन्हें व्यक्तिगत निशाना बनाने का प्रयास कर रहे हैं,पर अभी तक एक भी मामले में उन्हें पुख्ता प्रमाणों के साथ नहीं घेर पाए है। इक्का दुक्का गुपचुप कवायदों को छोड़ दो तो भाजपा के भीतर से भी अब तक उन्हें कभी कोई कड़ी चुनौती का सामना नहीं करना पड़ा।