राष्ट्रपति चुनाव के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम


रायपुर: राष्ट्रपति के लिए छत्तीसगढ़ में आज मतदान होगा। विधानसभा सचिवालय की ओर से चुनाव की पूरी तैयारी कर ली गई है। वहीं दूसरी ओर राजनीतिक दलों ने अपने विधायकों को फरमान भी जारी कर दिया है।  संख्या बल के लिहाज से एनडीए प्रत्याशी रामनाथ कोविंद को छत्तीसगढ़ से बढ़त मिलने के आसार हैं। विधानसभा सचिवालय में सुबह से ही मतदान की प्रक्रिया शुरू होगी।

सचिवालय ने सुरक्षा को लेकर व्यापक इंतजाम किए हैं। वहीं इस दौरान गतिविधियों की कड़ी निगरानी की जाएगी। मतदान से पहले राष्ट्रपति चुनाव के लिए दिल्ली से आए प्रेक्षक बीएच अनिल कुमार एवं राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी डीडी सिंह ने व्यवस्थाओं का जायजा लिया है।

इधर सत्तापक्ष की ओर से अधिक वोटों के अनुमान हैं। वहीं विपक्ष की ओर से मौजूदा 36 विधायकों के अलावा बसपा के एक सदस्य का समर्थन होगा। भाजपा के मौजूदा 49 विधायकों के अलावा निर्दलीय एक विधायक का भी समर्थन होगा। ऐसी स्थिति में एनडीए प्रत्याशी को 50 विधायकों का समर्थन मिलना तय हो गया है।

दूसरी ओर कांग्रेस से अलग हुए असंबद्ध एक एवं अन्य दो विधायकों के वोटों पर सस्पेंस बना हुआ है। तीनों विधायकों ने अभी यह सार्वजनिक नहीं किया है कि वे किसके पक्ष में वोट करेंगे। प्रदेश कांग्रेस के नेताओं से मतभेद की वजह से तीन विधायकों के यूपीए के पक्ष में जाने की फिलहाल संभावना नहीं है। वहीं एनडीए के पक्ष में मतदान करने की स्थिति में स्थानीय स्तर पर भाजपा के साथ अंदरूनी सांठगांठ के आरोपों में घिर सकते हैं।

ऐसी स्थिति में मतदान के बाद ही कुछ तस्वीर साफ हो पाएगी। राष्ट्रपति चुनाव के मतदान के मामले में नए सिरे से कवायदें चल रही है। हालांकि विपक्ष ने अलग हुए तीन में से एक विधायक को जरूर आमंत्रित किया है। सत्तापक्ष की कोशिश है कि वो इन तीनों विधायकों को अपने पाले में लेकर आए। इसके लिए लगातार चर्चाएं भी हो रही है।