भाजपा का सिर सत्ता के सामने झुकता है,कांग्रेस का सत्य के


रायपुर: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपने दो दिवसीय छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान शुक्रवार को जगदालपुर पहुंचे। जहां वे कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर में शामिल हुवे, कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कई टिप्स दिए।
कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी की विचारधाराओं में मूल अंतर को समझाते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस की विचारधारा में एक ही मूलभूत अंतर है, वह है भारतीय जनता पार्टी के नेता और कार्यकर्ता सत्ता के सामने सिर झुकाते हैं जबकि कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता सच के सामने ही सर झुकाते हैं। भारतीय जनता पार्टी का चुनाव चिन्ह कमल है और वहीं खिलता है जहां कीचड़ होता है। कांग्रेस पार्टी का चुनाव चिन्ह हाथ का पंजा है जो कि सभी धर्मों में शामिल है।

कांग्रेस का चुनाव चिन्ह सामाजिक एकता और समृद्ध राष्ट्र का प्रतीक है। हमारी सोच लोगों को जोडऩे वाली सोच है न कि तोडऩे वाली। हमारी पार्टी प्रत्येक कार्यकर्ता का सम्मान करना जानती है । इस समय आवश्यकता इस बात की है कि हम सब एकजुट होकर भारतीय जनता पार्टी के देश विरोधी विचारों के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करें तथा कांग्रेस की नीति, सिद्धांत को जनता तक पहुंचाने का प्रभावशाली ढंग से प्रयास करें।

राहुल गांधी ने प्रशिक्षण शिविर में आये कांग्रेसियों को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनती है तो वह सरकार केवल विधायकों की सरकार नहीं होगी वरन् सभी कार्यकर्ताओं की सरकार बनेगी। उस सरकार में सबको सम्मान और सभी को उनकी योग्यता के अनुरूप जिम्मेदारी मिले यह भी सुनिश्चित किया जाएगा।

इसके बाद राहुल गांधी ने प्रदेश महिला कांग्रेस के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को संबोधित किया एवं अपने विचार रखे। प्रदेश युवा कांग्रेस के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। राहुल ने सर्किट हाऊस में विधायकों, वरिष्ठ पदाधिकारियों एवं अन्य संगठनों के प्रतिनिधियों सहित टाटा एस्सार के पीडि़तों से भी मिले। राहुल गांधी ने स्थानीय आदिवासी युवकों एवं छात्र प्रतिनिधियों से मुलाकात कर बस्तर की वस्तुस्थिति से अवगत हुए।