राज्यपाल से नहीं, राष्ट्रपति से है न्याय की आशा


रायपुर: ढाई दिन में ही विधानसभा का सत्र समाप्त होने से नाराज प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि इस मामले में राज्यपाल से शिकायत किए हैं, लेकिन हमें वहां से न्याय की उम्मींद नहीं है। हम इस मामले में अब राष्ट्रपति से मिलकर शिकायत करेंगे। भूपेश बघेल ने कहा कि राज्य सरकार विपक्ष से डरी हुई है।

वे विधानसभा में चर्चा से भाग रही है। सरकार भगोड़ा हो गई है। उन्होने कहा कि आठ दिन का सत्र महज ढाई दिन में खत्म किये जाने का विरोध दिल्ली में होगा। कांग्रेस के तमाम विधायक और शीर्ष पदाधिकारी दो दिनों तक दिल्ली में डेरा डालेंगे। 9 और 10 अगस्त को कांग्रेस के विधायक दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना देंगे और फिर राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन सौपेंगे। 9 अगस्त को पार्टी के पदाधिकारियों की तरफ से धरने की शुरुआत होगी।

जिसमें पीसीसी के शीर्ष पदाधिकारी और कुछ विधायक शामिल होंगे, जबकि 10 अगस्त को नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव और पीसीसी चीफ भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी पीएल पूनिया पूर्व मंत्री चरणदास महंत, रविंद्र चौबे, मोहम्मद अकबर सहित तमाम दिग्गज नेता शामिल होंगे।

विधानसभा का सत्र सिर्फ ढाई दिन में खत्म किये जाने पनामा मामले पर चर्चा से बचने और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर दिल्ली के जंतर-मंतर पर कांग्रेस ये धरना देगी। दिल्ली में होने वाले धरना में सभी विधायकों को शामिल होने का निर्देश दिया गया है। काफ ी दिनों के बाद ऐसा मौका आया है जब कांग्रेस के सभी विधायक और शीर्ष नेता दिल्ली के जंतर मंतर पर इस तरह से धरना देंगे। कांग्रेस ने ये भी तय किया है कि अगर राज्यपाल की तरफ से कोई एक्शन नहीं लिया गया तो वो दिल्ली में भी राष्ट्रपति से इस मामले की शिकायत कर सकते हैं।