स्कूली बच्चों की भागीदारी से शुरू हो रही ‘ट्रैफिक मित्र’ योजना


रायपुर: राज्य के 10 हजार से अधिक स्कूली बच्चे अब हर महीने दो दिन शहरों के चैराहों पर ट्रैफिक मित्र की भूमिका में नजर आएंगे। छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य होगा, जहां स्कूली बच्चे ट्रैफिक मित्र के रूप में पुलिस के सहयोग से यातायात नियंत्रण की कमान संभालेंगे। वे 18 अगस्त से अपना कार्य शुरू करेंगे। भारत स्काउट्स एवं गाइड्स संगठन में सदस्य के रूप में शामिल इन स्कूली बालक-बालिकाओं में से संगठन द्वारा 10 हजार 252 बच्चों को ट्रैफिक मित्र का नाम देकर यातायात पुलिस की मदद से ट्रैफिक कंट्रोल का प्रशिक्षण दिया है।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अपने निवास परिसर में आयोजित समारोह में इनमें से प्रतीक स्वरूप 10 बच्चों को ट्रैफिक मित्र अलंकरण से सम्मानित किया। उनके साथ-साथ संगठन के रोवर्स और रेंजर्स को भी सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा-भारत स्काउट्स एवं गाइड्स संगठन में बच्चों को अपने स्कूली जीवन में अनुशासन और समाज सेवा की भी प्रेरणा मिलती है। छत्तीसगढ़ के विभिन्न स्थानों से उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार राज्य में हर दिन 35 से 40 सड़क दुर्घटनाएं होती हैं। कई लोग घायल होते हैं और दुर्भाग्यवश कुछ लोगों की मृत्यु भी हो जाती है। ऐसे में सुगम यातायात और प्रत्येक व्यक्ति के सुरक्षित जीवन के लिए हम सबको यातायात नियमों का पालन करना चाहिए।

डॉ. ङ्क्षसह ने कहा-कुछ लोगों में यातायात नियमों को तोडऩे की मानसिकता होती है। हमारे स्काउट्स गाइड्स संगठन के ये बच्चे ऐसे लोगों की मानसिकता को बदलने में अहम भूमिका निभाएंगे। मुझे यकीन है कि अगर हमारे ये नन्हें बच्चे ट्रैफिक मित्र के रूप में चैराहों पर खड़े होंगे तो किसी भी व्यक्ति को यातायात नियम तोडऩे की हिम्मत नहीं होगी। डॉ. ङ्क्षसह ने कहा-आप यकीन कीजिए, ये नन्हें ट्रैफिक मित्र सुगम यातायात जारी रखने के लिए अगर नियमों के तहत कहीं मुख्यमंत्री की गाड़ी को भी रोकें तो मेरी गाड़ी भी वहां रुक जाएगी।

गंभीर मरीजों, नेत्रहीनों और स्कूली बच्चों को पहले रास्ता देना पुण्य का कार्य डॉ. रमन सिंह ने कहा – किसी विशिष्ट व्यक्ति की गाड़ी की तुलना में किसी गंभीर बीमारी से पीडि़त मरीज को इलाज के लिए ले जा रहे एम्बुलेंस को सबसे पहले रास्ता देना जरूरी होता है। पैदल चलने वाले नेत्रहीन लोगों को सड़क पार करवाने में हमारे इन ट्रैफिक मित्रों का योगदान महत्वपूर्ण होगा। यह सब पुण्य के कार्य हैं। विदेशों में तो पैदल स्कूल जा रहे बच्चों को सड़कों पर सबसे पहले रास्ता दिया जाता है।

मुख्यमंत्री ने भारत स्काउट्स गाइड्स की ट्रैफिक मित्र योजना की प्रशंसा की और इसके लिए संगठन के सभी पदाधिकारियों और सदस्यों को बधाई दी। अलंकरण समारोह की अध्यक्षता स्कूल शिक्षा मंत्री और भारत स्काउट्स एवं गाइड्स प्रदेश संगठन के अध्यक्ष श्री केदार कश्यप ने की। संगठन के राज्य मुख्य आयुक्त श्री गजेन्द्र यादव, पुलिस महानिदेशक श्री ए.एन. उपाध्याय, अपर पुलिस महानिदेशक द्वय सर्वश्री अशोक जुनेजा तथा आर.के. विज, संचालक लोक शिक्षण श्री एस. प्रकाश और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।