मेडिकल कॉलेज की भर्ती में अनोखी गड़बड़ी, सभी रिश्तेदारो का हुआ चयन


Lakhiram Memorial Medical College

परीक्षा और भर्ती परीक्षा में गड़बड़ी के मामले तो आये दिन सामने आते रहते है वही नया मामला छत्तीसगढ़ का है, जहा मेडिकल कॉलेज में वार्ड ब्वाय व आया की भर्ती परीक्षा में अनोखी गड़बडी सामने आई है। टॉपर परीक्षा में सौ फीसदी अंक ले आया तो उसकी पत्नी भी मेरिट लिस्ट में शामिल हो गयी।

भर्ती प्रक्रिया में एग्जाम में दो सगी बहनों को आगे-पीछे बैठाया गया और सभी वार्ड ब्वॉय एवं आया के लिए चुन लिए गए। छत्तीसग में रायगढ़ स्थित लखीराम मेमोरियल मेडिकल कॉलेज में वार्ड ब्वाय एवं आया के लिए दो दिन पहले चयन लिस्ट जारी की गई है।

42 पदों के लिए जो मेरिट लिस्ट बनी है। उस लिस्ट में टॉपर आने वाले रविन्द्र वैष्णव ने सौ फीसदी अंक हासिल किए हैं। रविन्द्र ने 60 में से 60 अंक लाए हैं। वहीं रविन्द्र की पत्नी शीतल वैष्णव ने 54 अंकों के साथ मेरिट में 24 वां स्थान लाया है। कॉलेज प्रबंधन द्वारा जो चयन लिस्ट जारी की गई है, उसमें एक ही परिवार के सदस्यों का चयन हुआ है।

चयन लिस्ट में ममता जायसवाल पिता समारू राम जायसवाल एवं सुषमा जायसवाल पिता समारू राम जायसवाल का भी नाम है। दोनों सगी बहने हैं और दोनों ने एक साथ बैठकर परीक्षा दी थी। दोनों का चयन भी हो गया है। लिस्ट में ऐसी गड़बड़ी के बाद कॉलेज प्रबंधन एवं डीन पर भर्ती प्रक्रिया में गड़बड़ी के आरोप लगने लगे हैं।

परीक्षा के वक्त ऐसे लोगों को एक साथ रोल नंबर दिए गए। कालेज प्रबंधन ने बड़ी बहन ममता जायसवाल का रोल नंबर 502808 दिया और छोटी बहन सुषमा को रोल नंबर 502809 देकर ठीक उसके पीछे बैठाया गया। अब दोनों वार्ड आया बन गई हैं। टॉपर रविन्द्र ने एग्जाम में पूरे 100 प्रतिशत अंक लाएं हैं।

आमतौर पर IIT एवं IIM में भी स्टूडेंट्स इतनी स्कोरिंग नहीं कर पाते हैं। वार्ड ब्वॉय एवं आया में पति-पत्नी के एक साथ चयनित होने पर डीन भी इसे आश्चर्यजनक बता कर जांच कराने की बात कह रहे हैं। कॉलेज में 42 पदों के लिए आयोजित इस परीक्षा में करीब 7 हजार लोगों ने अपनी किस्मत आजमाई थी। 10 दिसंबर को शहर में आयोजित इस परीक्षा के लिए 10 सेंटर बनाए गए थे।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।