नरेंद्र मोदी को नीच बोलने पर कांग्रेस ने अय्यर को किया सस्पेंड


पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर बताया, “कांग्रेस पार्टी ने मणिशंकर अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी कर उनकी प्राथमिक सदस्यता निलंबित कर दी है।” इससे पहले, मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री मोदी पर विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था, “ये आदमी बहुत नीच किस्म का है। इसमें कोई सभ्यता नहीं है और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है?”

इससे पहले अय्यर की विवादित टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ”भाजपा और PM ने कांग्रेस पर हमला करते हुए अक्सर अभद्र भाषा का प्रयोग किया है। कांग्रेस की संस्कृति और विरासत अलग है। मणिशंकर अय्यर ने भारत के प्रधानमंत्री के लिए जिस लहजे और भाषा का प्रयोग किया है, वह गलत है। कांग्रेस और मैं चाहते हैं कि वो अपने बयान के लिए माफ़ी मांगे।”

इसके अलावा दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा कि कुछ नेता राहुल गांधी व कांग्रेस को और कमजोर करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ”मैं कुछ कांग्रेसी नेताओं द्वारा राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी को और कमजोर करने की कोशिश की कड़ी निंदा करती हूं। अगर ये नेता सच में कांग्रेस की विचारधारा पर यकीन करते हैं, तो इनको शब्दों के चयन को लेकर बेहद सतर्क रहना चाहिए।” उन्होंने कहा कि हम सभी को अपने अध्यक्ष को मजबूत करने की जरूरत है।

माना जा रहा है कि गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए मतदान से ठीक पहले मणिशंकर अय्यर के इस बयान को लेकर कांग्रेस को नुकसान का डर था, जिसके चलते उनको निलंबित करने की कार्रवाई की गई। कांग्रेस नेता शीला दीक्षित ने ट्वीट कर ऐसी आशंका पहले ही जाहिर कर दी थी। इससे पहले साल 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले भी मणिशंकर अय्यर ने मोदी के खिलाफ विवादित बयान देते हुए उनको चायवाला कहा था। इस चुनाव में कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा था।

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने मोदी पर बेहद विवादित टिप्पणी करते हुए कहा, ”ये आदमी बहुत नीच किस्म का आदमी है। इसमें कोई सभ्यता नहीं है और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है।”

जब अय्यर से सवाल किया गया कि राहुल गांधी ने उम्मीद जताई है कि आप पीएम पर की गई विवादित टिप्पणी के लिए माफी मांगेंगे, तो उन्होंने कहा कि ”हां मैंने नीच शब्द इस्तेमाल किया। मैं हिंदी भाषी नहीं हूं और अंग्रेजी से ट्रांसलेट करता हूं। मेरी हिंदी बेहद कमजोर है। मेरे दिमाग में अंग्रेजी थी और मैंने Low शब्द का हिंदी में अनुवाद करके ‘नीच’ कह दिया। अगर इसका कोई और अर्थ निकलता हो, तो माफी चाहूंगा।” उन्होंने कहा, ”पीएम को नीच कहने का मेरा कोई इरादा नहीं था। पीएम हमारे नेता के लिए गंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं। मैं कांग्रेस का औपचारिक नेता भी नहीं हूं।’

पीएम मोदी ने किया पलटवार

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर की आपत्तिजनक टिप्पणी पर पीएम मोदी ने भी पलटवार की। गुजरात में एक जनसभा में मोदी ने जनता से कहा, ‘आपने मुझे प्रधानमंत्री के तौर पर देखा है। आपने कभी ऐसा देखा है कि मैंने कभी कोई नीच काम किया है। कांग्रेस के लोगों आप मानसिक संतुलन गंवा चुके हैं। मुझे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता इस देश के ग़रीबों के साथ बैठने में। मुझे गर्व है कि भले ही मैं नीच जाति का हूं, लेकिन उच्च काम करना मेरे संस्कार है।’

लालू ने बोले- मणिशंकर दिमागी रूप से ठीक नहीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच कहने वाले कांग्रेस मणिशंकर अय्यर की राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने भी निंदा की है। उन्होंने कहा कि मणिशंकर दिमागी रूप से ठीक नहीं हैं।

 

लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।