कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ‘संसद में खड़े होने से घबराने’ का आरोप लगाए जाने के एक दिन बाद आज पार्टी ने यह सवाल पूछते हुए एक ऑनलाइन पोल शुरू किया कि ‘क्या मोदी राहुल के 15 मिनट के भाषण वाली चनौती को स्वीकार करने की हिम्मत जुटा पाएंगे।’

दरअसल, कल ‘संविधान बचाओ’ अभियान की शुरुआत के मौके पर राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी पर ‘संसद में खड़े होने से घबराने’ का आरोप लगाते हुए कहा था कि अगर संसद में उनका 15 मिनट का भाषण करा दिया गया तो वह ‘बैंकिंग घोटाले’ और ‘राफेल घोटाले’ को लेकर सरकार को इस कदर घेरेंगे कि मोदी वहां खड़े नहीं रह पाएंगे।

पार्टी अध्यक्ष की इस चुनौती के एक दिन बाद कांग्रेस ने आज अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर ऑनलाइन पोल के लिए यह सवाल पोस्ट किया कि ‘क्या प्रधानमंत्री मोदी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की 15 मिनट की चर्चा की चुनौती स्वीकार करने की हिम्मत जुटा पाएंगे?’ कांग्रेस के मुताबिक उसके इस सवाल पर यूजर्स 24 घण्टे के भीतर ‘हां या नहीं’ के तौर पर जवाब दे सकते हैं।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।