नई दिल्ली : कांग्रेस संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी ने कहा है कि तीन तलाक के मामले में उनकी पार्टी का रुख पहले से ही स्पष्ट है और उसमें बदलाव की कोई बात ही नहीं है। श्रीमती गांधी ने शुक्रवार को यहां संसद भवन परिसर में तीन तलाक निरोधक विधेयक में केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा कल किये गये कुछ संशोधनों के संबंध में पत्रकारों के सवाल पर कहा, ‘इस मुद्दे पर हमारी पार्टी का रुख एकदम स्पष्ट है। मैं इस बारे में और कुछ नहीं कहूंगी।

मंत्रिमंडल ने लोकसभा से पहले ही पारित इस विधेयक में गुरुवार को तीन संशोधन करते हुए इसमें मजिस्ट्रेट द्वारा आरोपी पति को जमानत दिये जाने और उचित शर्तों पर समझौते के प्रावधान को शामिल किया है। विधि एवं न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि संशोधन के तहत प्राथमिकी दर्ज कराने का अधिकार स्वयं पीड़ति पत्नी, उससे खून का रिश्ता रखने वाले और शादी के बाद बने रिश्तेदारों को दिया गया। विधेयक में समझौते का प्रावधान शामिल किया गया है जिसके तहत मजिस्ट्रेट को अधिकार दिया गया है कि वह पीड़ति का पक्ष सुनने के बाद आरोपी पति को जमानत दे सकता है।