उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने पेरिस में रह रहे भारतीय मूल के लोगों से अपनी जड़ से जुड़ने और देश की विकास प्रक्रिया में योगदान देने को कहा है। फ्रांस की यात्रा पर गये श्री नायडू ने पेरिस में संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) के एक कार्यक्रम में भारतीय मूल के लोगों को संबोधित करते हुए शुक्रवार को कहा, ‘ सरकार साहसिक सुधारों के एजेन्डे पर आगे बढते हुए देश के शैक्षिक स्वरूप को बदलने में लगी है।

‘साथ ही उन्होंने कहा कि भारत संभावनाओं से भरा देश है इसलिए वे नये भारत के निर्माण में हिस्सा लें और वहां निवेश के अवसरों का लाभ उठायें। उप राष्ट्रपति ने कहा कि अभी दुनिया के कई हिस्सों में मंदी है लेकिन भारत सुधारों की दिशा में बढ़ रहा है।

वस्तु एवं सेवा कर की शुरूआत सुगम और दक्ष राष्ट्रीय बाजार की दिशा में बड़ कदम है। अभी भारत में व्यवसाय आसानी से फल फूल रहे हैं। इसलिए यह अपनी जड़ से जुड़ने का बेहतर समय है। भारत और फ्रांस दोनों अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन की मदद से स्वच्छ ऊर्जा के इस्तेमाल को बढावा देने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रगति के लिए शांति और स्थिरता बेहद जरूरी है क्योंकि परस्पर जुड़ दुनिया में संवाद और आपसी समझ से ही प्रगति हासिल की जा सकती है।