RSS कार्यकर्ताओं की हत्या में CPM का हाथ : होसबोले


RSS (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) के सह सरकार्यवाहक दत्तात्रेय होसबोले ने केरल में हुई RSS कार्यकर्ताओं की हत्या का आरोप CPM पर लगाया है। उन्होंने अखिल भारतीय कार्यकरी मंडल केरल में CPM कैडर के हमलों के संबंध में संकल्प पारित किया।

इस बीच , जेटली ने कहा कि वो रविवार को केरल दौरे पर जाएंगे और राजनीतिक हिंसा में मारे गए अपनी पार्टी के लोगों के साथ ही दूसरे राजनीतिक कार्यकर्ताओं के परिजनों से भी मिलेंगे।

होसबोले ने राज्य में राजनीतिक हत्याओं की जांच की मांग उठाते हुए कहा कि हत्याओं की श्रृंखला को बंद किया जाए। उन्होंने राज्य सरकार से इसे लेकर सख्त कार्रवाई की मांग की।

RSS के दत्तात्रेय होसबोले ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केरल में हुई राजनीतिक हत्याओं की निंदा की। उन्होंने कहा कि पिछले 13 महीनों में 14 RSS कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है और राज्य सरकार ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। उन्होंने आरोप लगाया कि इन हत्याओं के पीछे CPM है।

RSS के दत्तात्रेय होसबोले ने राजनीतिक हत्याओं के लिए केरल की लेफ्ट सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि राज्य सरकार को अपने रवैये में तब्दीली लानी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह एक खूनी जंग है और इन हत्याओं की जांच होनी चाहिए। होसबोले ने कहा कि CPM के लोगों ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भी हत्याएं की हैं। उन्होंने राज्य सरकार से अपने रवैये में तब्दीली लाने और राजनीतिक हत्याओं के सिलसिले को रोकने के लिए कड़े कदम उठाने की गुजारिश की।

वही स्मृति ईरानी ने आरोप लगाया है कि केरल में कानून-व्यवस्था चरमरा गई है और CPM की अगुवाई वाली राज्य सरकार RSS कार्यकर्ताओं की हत्या के खिलाफ कोई कार्रवाई इसलिए नहीं कर रही है। क्योंकि यह उसके लिए राजनीतिक तौर पर फायदेमंद है। ईरानी ने यह बयान ऐसे समय में दिया है जब बीजेपी ने तिरुवनंतपुरम के पास 34 साल के RSS कार्यकर्ता राजेश की हत्या के बाद केरल की पी विजयन सरकार पर हमले तेज कर दिए हैं।

ईरानी ने कहा कि यह स्पष्ट है कि केरल की सरकार RSS के कार्यकर्ताओं की हत्या पर कोई प्रभावी कार्रवाई इसलिए नहीं कर रही। क्योंकि यह उसके लिए राजनीतिक तौर पर फायदेमंद है। यह शर्म की बात है कि राज्य में कानून-व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। ईरानी के साथ BJP महासचिव भूपेंद्र यादव भी थे। जिन्होंने दावा किया कि पिछले 17 महीने में 17 से ज्यादा RSS कार्यकर्ता मारे गए हैं।

आपको बता कि केरल में बीती 29 जुलाई को एक और RSS के कार्यकर्ता की धारदार हथियार से जघन्य हत्या कर दी गई थी। पुलिस का कहना है कि उन्हें हिस्ट्रीशीटर अपराधी के नेतृत्व में एक गैंग ने काट डाला जबकि प्रदेश BJP का आरोप है कि संघ कार्यकर्ता को माकपा ने मरवाया है। शनिवार को रात 9 बजे हुए एक भयावह हमले में 34 साल के राजेश पर कई वार करते हुए उनका बांया हाथ काट डाला था। उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ महीनों में केरल में RSS के कई नेताओं की हत्या की जा चुकी है।