उद्योगपति के बेटे उत्सव भसीन को दो साल कारावास की सजा


नई दिल्ली: दिल्ली की एक निचली अदालत ने बहुचर्चित बीएमडब्ल्यू हिट एंड रन मामले में हरियाणा के उद्योगपति के बेटे उत्सव भसीन को दो साल की कड़ी कैद और 12 लाख रुपये का जुर्माना ठोंका है। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संजीव कुमार ने 2008 के इस मामले में आज सजा का ऐलान किया। तीस वर्षीय भसीन अपनी बीएमडब्ल्यू कार से एक मोटर साइकिल पर सवार दो युवकों को रौंदकर मौके से फरार हो गया था। इस घटना में घायल अनुज सिंह चौहान की बाद में मृत्यु हो गयी थी।

दूसरा घायल एक टेलिविजन चैनल में पत्रकार था जिसने घायल होने के बावजूद पीछा करके भसीन को पकड़वाया था। श्री कुमार ने 12 लाख रुपये जुर्माने की राशि में से दस लाख रुपये मृतक के परिवार को और शेष दो लाख रुपये पत्रकार को देने का आदेश दिया है। इस मामले में गत पांच मई को भसीन को लापरवाही से मौत सहित भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत दोषी ठहराया गया था। अदालत ने भसीन पर लगी आईपीसी की धारा 304 हटा ली थी। यह मामल 11 सितंबर 2008 का है।

बीएमडब्ल्यू कार चला रहे भसीन ने दक्षिण दिल्ली के मूलचंद फ्लाई ओवर पर दोपहिया को टक्कर मारी थी। हादसे में घायल अनुज की दो दिन बाद मौत हो गयी थी जबकि दूसरा सवार मृगांक श्रीवास्तव घायल हो गया था। श्रीवास्तव को पैर में चोट लगी थी। हादसे के समय भसीन 21 वर्ष का था और लोधी कालोनी के आईआईएलएम से बीबीए की पढ़ाई कर रहा था। मौके से फरार होने के बाद भसीन को कश्मीरी गेट के अंतरराज्यीय बस अड्डे से गिरफ्तार किया गया था। वह चंडीगढ़ भागने की फिराक में था। फैसले पर मृतक के भाई क्षितिज चौहान ने कहा, हम उच्च न्यायालय अपील करेंगे कि मुकदमें से कड़ी धारा क्यों हटाई गयी। हम अपील में न्यायालय से कड़ी धारा फिर से लगाने का अनुरोध करेंगे।