धरोहरों को संरक्षित रखें: एलजी


नई दिल्ली: दिल्ली के एलजी अनिल बैजल ने मेहरौली आर्कियोलॉजी पार्क का निरीक्षण किया एवं जमाली कमाली मकबरा, कुली खान का मकबरा एव राजाओं की बाउली की स्थिति का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने दिल्ली विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी संबंधित एजेंसियों के साथ मिलकर इस कामप्लेक्स के विकास के लिए नई रूपरेखा तैयार की जाए। राहगीरों एवं आगंतुकों को बुनियादी नागरिक सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएं।

इस मौके पर एलजी ने कहा कि हमें अपनी बहुमूल्य सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक धरोहरों को संरक्षित, पुनर्रक्षित एवं उचित रखरखाव की आवश्यकता है। इस दौरान एलजी ने डीडीए के अधिकारियों को निर्देश दिए कि अक्तुबर तक इस मकबरे और इसके आस-पास के इलाके को विकसित किया जाए। उन्होंने डीडीए को एक समन्वय तंत्र बनाने के निर्देश दिए जिसमें सभी हितधारकों का प्रतिनिधित्व हो। ऐसे तंत्र के विकास के लिए उन्होंने अक्टूबर के अंत तक बनाने का समय दिया जिसमें पार्क के संरक्षणए पुनर्रक्षण एवं उसके रखरखाव आदि सभी कार्य समाहित हों।

एलजी ने दिल्ली विकास प्राधिकरण को राहगीरों एवं आगंतुकों को जल्द से जल्द बुनियादी नागरिक सुविधाएं उपलब्ध कराने को कहा है। इसके अतिरिक्त एलजी ने पार्क में घुमनेवालों से बातचीत भी की जिन्होंने पार्क के अंदर हो रहे अतिक्रमण के बारे में बताया। इस संबंध में उन्होंने उनके विरूद्ध कानून के अनुसार कार्यवाही करने को कहा है। गौरतलब है पूरे पार्क कॉम्प्लेक्स में अमूल्य ऐतिहासिक संपत्तियां हैं जो 15 वीं और 16 वीं शताब्दी से भी पुरानी हैं और कुतुब मीनार की निकट है। एलजी ने जोर देकर कहा कि इस क्षेत्र को दिल्ली का एक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित होने की काफी संभावना है।