3 दिन तक हड़ताल करेंगे जीएसटी के खिलाफ कपड़ा व्यापारी


नई दिल्ली : वस्तु एवं सेवा कर जीएसटी में कपड़ों पर 70 साल बाद कर लगाने के खिलाफ दिल्ली हिंदुस्तानी मर्कन्टाइल एसोसिएशन ने देशभर में 27 से 29 जून तक कपड़ा बाजार बंद रखने का ऐलान किया है। एसोसिएशन उप-प्रधान श्रीभगवान बंसल ने बताया कि पहले एक दिन की हड़ताल की गई थी जिससे 20 हजार करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ था। अब तीन दिन की हड़ताल से 60 हजार करोड़ रुपये का नुकसान का अनुमान है।

                                                                                                  source

देशभर के कपड़ा व्यापारियों के प्रतिनिधियों ने आज यहाँ राष्ट्रीय राजधानी में एकत्र होकर आगे की रणनीति को लेकर विचार-विमर्श किया। एसोसिएशन के प्रधान अरुण सिंहानिया ने सरकार से अपील की कि कपड़ा पर जीएसटी लगाने पर केन्द सरकार 30 जून की जीएसटी परिषद की बैठक में पुनर्विचार करे। कपड़ा व्यापारियों उनसे जुड़े कर्मचारियों तथा उनके परिवार और जनता पर पडऩे वाले बुरे प्रभाव को रोकने के लिए पुनर्विचार किया जाए।

                                                                                                   source

श्री सिंहानिया ने कहा कि कपड़े पर जीएसटी लगाने से देशभर के कपड़ा व्यापारी नाराज हैं। 70 साल बाद कपड़े को कर के दायरे में लाया गया है। आम जनता पर इसका बुरा प्रभाव पड़ेगा। जीएसटी में एक हजार रुपये तक के कपड़ों पर पाँच प्रतिशत और इससे ऊपर की कीमत के कपड़ों पर 12 प्रतिशत जीएसटी का प्रावधान किया गया है। संगठन के महामंत्री मुकेश सचदेवा ने कहा कि यदि 30 जून की बैठक में इस पर पुनर्विचार नहीं किया जाता है तो देशभर के कपड़ा व्यापारी अनिश्चतकालीन हड़ताल करने को मजबूर होंगे।