तीन दिन के प्रवास के बाद अमित शाह दिल्ली रवाना


Amit Shah

जयपुर : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी जनों को प्रदेश को अजेय राजस्थान बनाने के लिए जुट जाने का निर्देश देकर आज मध्याहन बाद दिल्ली के लिए रवाना हो गये है। शाह ने जयपुर में रहने वाले दलित बूथस्तर के दलित कार्यकर्ता के घर पर भोजन किया। शाह को विदा करने के लिए हवाई अड्डे पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी समेत अन्य वरिष्ठ नेता पहुंचे। शाह ने अपने तीन दिन के प्रवास के आज अन्तिम दिन सांसद, विधायकों, विस्तारकों, पंचायत राज स्थानीय निकाय के पार्टी प्रमुखों, कोर कमेटी, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी एवं राजस्थान प्रभारी अविनाश राय खन्ना के साथ अहम बैठक की। शाह ने कल देर रात दिल्ली से जयपुर लौटने के बाद आज तय कार्यक्रम के अनुसार लगातार बैठक कर पार्टी पदाधिकारियों को संगठन को बूथस्तर तक मजबूत बन जाने में जुट जाने के निर्देश दिये है।

पार्टी सूत्रों के अनुसार शाह की बैठकों में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे,प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी,राष्ट्रीय महामंत्री सांसद भूपेन्द, यादव, अनिल जैन, उपाध्यक्ष सांसद ओम प्रकाश माथुर, केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह मौजूद रहे। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष, सांसदों एवं विधायकों की बैठक लेने के बाद सिविल लाइंस विधानसभा क्षेत्र की सुशीलपुरा इलाके में रहने वाले बूथस्तर दलित कार्यकर्ता रमेश के मकान पर जाकर भोजन किया। शाह के साथ मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, राष्ट्रीय महामंत्री सांसद भूपेन्द, यादव, केन्द्रीय सूचना एंव प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी, राज्य के सामाजिक अधिकारिता मंत्री डा। अरूण चतुर्वेदी थे। शाह समेत सभी ने जमीन पर बैठ कर पथल दोने में भोजन किया। दलित परिवार के लोगों ने सभी को बडे चाव से भोजन खिलाया।

शाह ने दलित परिवार के घर से रवाना होने पर घर के बाहर और छतों पर खडे लोगों का हाथ हिलाकर काफी देर तक अभिवादन किया। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बच्चों के साथ फोटो खिंचवाये और लोगों से बातचीत की। जयपुर में आज सुबह से रूक रूक कर हो रही बारिश के बावजूद शाह की बैठके यथावत समय पर हुई। हालांकि मौसम खराबी के कारण तय समय के अनुसार दिल्ली प्रस्थान करने में देरी हुई। शाह बारिश में ही पार्टी प्रदेश मुख्यालय से रवाना हुए और जिस वक्त सांगानेर हवाई अड्डे पर पहुंचे उस वक्त भी वर्षा हो रही थी। हालांकि विमान के रवाना होने के समय वर्षा रूक गयी थी।