राजनीतिक जयचंद कर रहे हैं देश के खिलाफ षड्यंत्र: पात्रा


नई दिल्ली: भारत एक सर्व धर्म देश है, जहां हर धर्म के व्यक्ति ने देश की आजादी के लिए कुर्बानी दी। लेकिन दुख की बात है कि आजादी के बाद बने हिन्दुस्तान में समय-समय पर राजनीतिक जयचंद देश को कमजोर करने के लिए षड्यंत्र कर रहे हैं। उक्त बातें भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता और भाजपा नेता संबित पात्रा ने कही। संबित पात्रा दिल्ली भाजपा कार्यालय में आयोजित ‘असहिष्णुता से सामूहिक हत्याकांड-किस तरह दुष्प्रचार किया जाता है विषय’ पर सेमिनार को संबोधित कर रहे थे। पात्रा ने कहा कि नोटइन माय नेम गैंग हो या फिर अवार्ड वापसी गैंग मैं इनकी तुलना रूदालियों से करता हूं। जिस तरह राजस्थान में रूदाली मृत्यु के बाद रो कर पैसा कमाती थीं वैसे ही ये नोटइनमायनेम गैंग और अवार्ड वापसी गैंग राजनीतिक लाभ जुटाने के लिए आंसू बहा रहे हैं।

बंगाल का जिक्र करते हुए पात्रा ने कहा कि जब हम बंगाल का ध्यान करते हैं तो हमारी आंखों के सामने आनन्द मठ के दृश्य घूम जाते हैं, जिनमें हिन्दू और मुसलमान एक साथ वंदेमातरम् गाते हैं पर आज उसी बंगाल में बहुसंख्यक स्वयं को असुरक्षित पाते हैं क्योंकि स्थानीय सरकार राजनीतिक खेल, खेल रही है। शर्म का विषय है कि बंगाल की मुख्यमंत्री सेना की एक वार्षिक क्रिया को सैन्य षडयंत्र का नाम देने का प्रयास करती हैं, असल में जो लोग खुद षडयंत्र करते हैं, उन्हें हर चीज में षडयंत्र नजर आता है। अधिवक्ता मोनिका अरोड़ा ने कहा बंगाल अर्पण की भूमि है, तर्पण की भूमि है, जन-गन-गन से वंदेमातरम् की भूमि है, टैगोर और बोस की भूमि है पर आज वहां जो कुछ हो रहा है हर भारतीय का, हर बंगला मानुष का सर शर्म से झुक रहा है। बसीरहाट में जिस तरह सांप्रदायिक तनाव बनाने के लिए इस्तेमाल किया गया। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि दुख की बात है कि चुनावी राजनीति के चलते कुछ राजनीतिक दल समाज में एक धार्मिक वर्ग विशेष को विपत्तिग्रस्त दिखाकर उनके वोट सहजने की कोशिश कर रहे है।