सिगरेट और शराब के सेवन से जा सकती है आपके आंखों की रोशनी


नई दिल्ली: अगर आप भी सिगरेट और शराब के शौकीन हैं तो सावधान हो जाइए। क्योंकि आपका यह शौख आपके आंखों की रोशनी छीन सकता है। डॉक्टरों के अनुसार धूम्रपान और शराब से ब्लड प्रेशर, हाइपरटेंशन, डायबिटीज और कॉलेस्ट्रॉल में बढ़ोतरी होती है। इससे होमोसिस्टन कैमिकल की मात्रा बढऩे से ब्लड गाढ़ा हो जाता है। जो आंखों के स्ट्रोक का मुख्य कारण है। इस स्ट्रोक की सबसे चिंताजनक बात यह है कि यह नौजवानों और बुजुर्गों दोनों को ही अपने चपेट में ले रहा है।

अगर इसका समय से इलाज नहीं कराया जाए तो स्थायी रूप से आंखों की रोशनी जा सकती है। आंखों के मशहूर डॉक्टर संजय चौधरी बताते हैं कि आई स्ट्रोक ज्यादातर लोगों में एक आंख में होती है, लेकिन दस प्रतिशत मरीजों में दोनों आंखों की रोशनी कम हो जाती है। ब्रेन स्ट्रोक की तरह आई स्ट्रोक में न तो ब्लीडिंग नहीं होती है, न ही आंखें लाल होती हैं और न ही मरीज को दर्द महसूस होता है। इसमें आंखों की नसों में खून रुक जाता है। हीमोग्लोबिन कम होने पर खून के जमने की प्रक्रिया तेज हो जाती है। इसलिए एनिमिक होने, विटामिन बी 12 और फॉलिक एसिड की कमी होने पर भी इसकी संभावना बढ़ जाती है।

– विकास कुमार