कांग्रेस नेता पी गोवर्धन रेड्डी का निधन


नयी दिल्ली…हैदराबाद : कांग्रेस नेता और तेलंगाना से राज्यसभा सदस्य पी गोवर्धन रेड्डी का आज दिल का दौरा पडऩे से निधन हो गया। 80 वर्षीय रेड्डी हिमाचल प्रदेश में कुल्लू की यात्रा पर थे। उनके परिवार में पत्नी, दो पुत्र और एक पुत्री हैं। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार, रेड्डी अपनी पत्नी के साथ संसदीय समिति की बैठक में भाग लेने के लिए कार से कुल्लू जा रहे थे, उसी दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ा। सांसद को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। अविभाजित आंध्रप्रदेश से पांच बार विधायक रहे रेड्डी 2012 में राज्यसभा सदस्य निर्वाचित हुए। वह संसद की विभिन्न समितियों के सदस्य थे। रेड्डी का पार्थिव शरीर पहले नयी दिल्ली स्थित उनके आवास पर लाया जाएगा, उसके बाद उसे हैदराबाद ले जाया जाएगा। उनका अंतिम संस्कार कल नलगोंडा जिले में स्थित उनके पैतृक गांव इदिकुडा में होगा। राज्यसभा में विपक्ष के नेता और अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के महासचिव गुलाम नबी आजाद ने कांग्रेस के अनुभवी नेता के निधन पर गहरा शोक जताया है। उन्होंने कहा, वह अनुभवी सांसद थे और उन्होंने विधानसभा तथा संसद में बहुत योगदान दिया है। उनके निधन से कांग्रेस ने महान नेता खो दिया है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के। चेन्द्रशेखर राव ने रेड्डी के निधन पर दुख जताते हुए उनके परिजनों के प्रति संवेदना जतायी। मुख्यमंत्री ने टीआरएस सांसद कोठा प्रभाकर रेड्डी से बात कर घटनाक्रम के बारे में जानने का प्रयास किया। कुल्लू में संसदीय समिति की बैठक के दौरान प्रभाकर रेड्डी के साथ मौजूद थे। मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा, ”मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव एस पी सिंह और दिल्ली के रेजिडेंट आयुक्त अरविन्द कुमार को निर्देश दिया है कि वह गोवर्धन रेड्डी का पार्थिव शरीर हैदराबाद लाने के लिए चार्टड विमान का इंतजाम करें। उन्होंने कहा, ”उन्होंने सांसदों केशव राव और जितेन्द, रेड्डी से कहा है कि वह पार्थिव शरीर को लाने और अन्य संबंधित मुद्दों का ख्याल रखें। विभिन्न दलों के नेताओं ने भी उनके निधन पर शोक जताया है। तेलंगाना भाजपा के अध्यक्ष के। लक्ष्मण ने भी रेड्डी के निधन पर शोक शोक व्यक्त किया।