जारी है स्वाइन फ्लू का कहर, चार की मौत


नई दिल्ली: दिल्ली में स्वाइन फ्लू धीर-धीरे मौत का दूत बनता जा रहा है। जुलाई में तीन जानें लेने के बाद अगस्त में इस बीमारी ने अभी तक पांच को मौत के नींद सुला दिया है। इनमें से एक मौत एम्स में हुई है तो चार जानें सफदजंग अस्पताल में गई हैं। इन्हें लेकर इस बीमारी से इस साल दिल्ली में मरने वालों की संख्या 16 हो गई है। वहीं दिल्ली में स्वाइन फ्लू के कुल मरीजों की संख्या पांच सौ के पार चली गई है। सफदरजंग अस्पताल से मिले आंकड़ों के अनुसार यहां स्वाइन फ्लू के कुल दाखिल मरीजों की संख्या 18 है। जिनमें से चार मरीजों की मौत बीते सप्ताह हो गई है। इनमें से एक की मौत तीन और दूसरी सात अगस्त को बताई जा रही है। मरने वालों में से एक मरीज उत्तर प्रदेश के मुज्जफरनगर का है। इसके अलावा यहां डेंगू के 170 मामले आ चुके हैं। वहीं चिकनगुनिया के 110 कन्फर्म मामले दर्ज किए गए हैं। यहां मलेरिया के 44 मामले पाए गए हैं।

आरएमएल में बढ़े 28 मरीज
बीते सप्ताह में आरएमएल अस्पताल में स्वाइन फ्लू के 28 नए मरीज सामने आए हैं। यहां इस बीमारी के कुल मरीजों की संख्या 109 है। जिसमें से दिल्ली के 65 और दिल्ली से बाहर के 44 मामले हैं। बता दें कि अब तक यहां इससे आठ मरीजों की मौत हो चुकी है।

एम्स के डॉक्टर भी चपेट में
आम तो आम अब इस बीमारी ने खास लोगों को भी अपने चपेट में लेना शुरू कर दिया है। एम्स में दो डॉक्टर इसके चपेट में आ गए हैं। जिनका प्राइवेट वार्ड में इलाज किया जा रहा है। बता दें कि यहां बीते दो अगस्त को एक मरीज की इससे मौत हो चुकी है।

नहीं है स्वाइन फ्लू किट
दिल्ली की लाइफ लाइन मानी जाने वाली कैट्स एम्बुलेंस में अभी तक स्वाइन फ्लू की किट भी नहीं दी गई है। जिससे एम्बुलेंसकर्मियों में खासा दहशत है और वे इस बीमारी के मरीज को सुविधा देने से कतरा रहे हैं। इस बाबत कैट्स संचालित करने वाली बीवीजी कंपनी से संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया।