डीडीए: बैंकों में जमा नहीं हो पा रहे फार्म


पश्चिमी दिल्ली: दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने हाउसिंग स्कीम-2017 लांच तो कर दी लेकिन अब लोगों को बैंकों से आवेदन फार्म लेने और जमा करने में भारी परेशानी से जूझना पड़ रहा है। कुछ बैंक फार्म अभी भी लोगों को उपलब्ध नहीं करा रहे हैं तो ज्यादातर डीडीए द्वारा रिजर्व किए गए बैंक आवेदकों से भरे गए फार्म को स्वीकार नहीं कर रहे हैं। आवेदकों की माने तो बैंक वालों का कहना है कि अभी आवेदन फार्म स्वीकार करने का निर्देश डीडीए से उनके पास नहीं आया है। फार्म भरने वाले आवेदक अब सूझ नहीं रहा है कि वे फार्म लेकर कहां जाएं।

दूसरी ओर इस मामले में डीडीए जनसंपर्क विभाग का कहना है कि विभाग को इस बात की कोई जानकारी नहीं है और न ही कोई शिकायत आई है। जनसंपर्क उपनिदेशक का कहना है कि सभी बैंकों को फार्म लेने व देने का निर्देश पहले भी दिया जा चुका है। उल्लेखनीय है कि 30 जून को 12072 फ्लैटों वाली इस आवासीय योजना की घोषणा हुई थी। 3 जुलाई से लोगों को डीडीए द्वारा रिजर्व बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, सैन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया, आई.डी.बी.आई., एक्सिस, आई.सी.आई.सी.आई., एच.डी.एफ..सी., यस बैंक और कोटक महिन्द्रा बैंक की निर्धारित शाखाओं से आवेदन फार्म मिलना शुरू हुआ था। लगभग दस दिन के बाद अब आवेदक बैंकों में आवेदन फार्म भरकर बैंकों में जमा करना चाह रहे हैं तो उपरोक्त बैंक फार्म लेने से मना कर रहे हैं।

आवेदकों के अनुसार बैंकों का दो टूक कहना है कि अभी आवेदन फार्म जमा करने संंबंधी कोई निर्देश नहीं आया है। इधर डीडीए भी लोगों को कुछ नहीं बता रहा है। आवेदक भरे वे आवेदन फार्म लेकर घर बैठने के अलावा कुछ नहीं कर पा रहे हैं। आवेदकों का कहना है कि डीडीए हाउसिंग स्कीम में लोगों की रूचि बढ़ाने के वादे व दावे तो खूब करता है, मगर असलियत है कि डीडीए हर आवासीय स्कीम में लोगों को परेशानी ही परेशानी मिलती है। इधर फ्लैटों में निकलने वाली खामियों के बारे में लोगों को पता चलने पर भी सांसत में हैं। वैसे भी इस बार आवेदन फार्म के साथ जमा होने वाली पंजीकरण राशि के लिए बैंक नया फार्मूला लेकर आ रही है ताकि उन्हें नुकसान न हो। इधर ड्रा में सफल आवेदक फ्लैट वापस करेंगे तो उनकी 25 से 50 प्रतिशत की पंजीकरण राशि जब्त कर ली जायेगी।

– जे. के. पुष्कर