प्रत्येक चुनाव वीवीपेट युक्त ईवीएम से कराने का दिल्ली विधानसभा का अनुरोध


नयी दिल्ली : दिल्ली विधानसभा ने ईवीएम की गड़बड़ी पर गंभीर चिंता जाहिर करते हुये राष्ट्रपति और चुनाव आयोग से अब प्रत्येक चुनाव वीवीपेट युक्त मशीनों से कराने का अनुरोध किया है। दिल्ली में सत्तारूढ़ आप सरकार की पहल पर आज विधानसभा के विशेष सत्र में सदन द्वारा सर्वसम्मति से राष्ट्रपति और निर्वाचन आयोग के नाम पारित संकल्प में वीवीपेट युक्त मशीनों से चुनाव कराने की व्यवस्था सुनिश्चित करने का अनुरोध किया गया। इससे पहले सदन में आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने ईवीएम के ”लाइव डिमॉंस्ट्रेशन” के जरिये मतदान मशीनों में गड़बड़ी करने के अपने दावे को सही बताया।

इस दौरान उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और पार्टी विधायक सोमनाथ भारती, वंदना कुमारी और राखी बिड़लान सहित आप के अन्य विधायकों ने भी पार्टी की विधानसभा और नगर निगम चुनाव में हार के लिये तथ्यों के आधार पर ईवीएम में गड़बड़ी को जिम्मेदार ठहराया।
भारद्वाज द्वारा पेश संकल्प में ईवीएम से छेड़छाड़ संबन्धी गंभीर अरोपों पर चिंता जाहिर करते हुये कहा गया है कि ऐसा कर लोकतांत्रिक प्रक्रिया के साथ समझौता करने की बात कही गयी है। संकल्प में इस मुद्दे को उठाने वाले राजनीतिक दलों की शिकायत पर चुनाव आयोग द्वारा ईवीएम को छेड़छाड़ मुक्त घोषित करने पर निराशा जतायी गयी।

संकल्प के अनुसार ”सदन में ईवीएम की हैकिंग के सजीव प्रदर्शन को दिखाकर यह विधानसभा देश के प्रत्येक नागरिक से आह्वान करती है कि ईवीएम के इस छल पर रोक लगाने के लिये एकजुट हो जायें क्योंकि यह हमारे लोकतंत्र के अस्तित्व के लिये बड़ा खतरा है।” संकल्प में इस खतरे के हवाले से राष्ट्रपति और निर्वाचन आयोग से विधानसभा ने अनुरोध किया है कि उच्चतम न्यायालय के निर्देशानुसार अब प्रत्येक चुनाव वीवीपेट युक्त मशीनों से कराये जायें। साथ ही आयोग से समय समय पर तकनीकी विशेषज्ञों को ईवीएम के छेड़छाड़ मुक्त होने का परीक्षण करने का मौका दिया जाये।

(भाषा)