दिल्ली : सेना के कैप्टन और उनके परिवार को बेरहमी से ‌पिटाई


नयी दिल्ली :  राजधानी दिल्ली के पॉश इलाके द्वारका में 13 मई को कुछ बदमाशों द्वारा सेना के एक कैप्टन तथा उनके परिवार को बेरहमी से पीटने का मामला सामने आया है। सेना के विशेष बल में तैनात कैप्टन विकास यादव ने मामले की शिकायत पुलिस से की है। कैप्टन यादव ने अपनी शिकायत में बताया कि 13 मई को वह अपनी पत्नी, बहन, बहनोई और उनके बच्चों के साथ द्वारका सिटी सेंटर मॉल में रात्रिभोज के लिए गए हुए थे।

कैप्टन विकास यादव ने पुलिस को बताया कि देर रात रात्रिभोज के बाद मॉल से निकलने के दौरान उन्होंने पत्नी,बहन और बच्चों को मॉल के गेट पर खड़े होने को कहा और वह अपने बहनोई संग पॉर्किंग में खड़ी हुई गाड़ी लाने चले गये। इसी दौरान एक एसयूवी स्कॉर्पियो गाड़ी उनके पास रुकी जिसमें सवार पांच लोग महिलाओं पर अभद्र टिप्पणियां करने लगे। महिलाओं के विरोध करने पर दो लोग गाड़ी से बाहर निकले और उनके साथ दुर्व्यवहार करने लगे।

कैप्टन यादव ने बताया कि पत्नी और बहन को बदमाशों के चंगुल से छुड़ने के लिए वह अपनी कार से तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे। इस दौरान बदमाशों ने उनके साथ मारपीट करना शुरू कर दिया। एक बदमाश ने कैप्टन के सिर पर शराब की बोतल से वार कर दिया जिसमें वह घायल हो गए। बदमाशों ने कैप्टन यादव और उनके परिवार को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी। बदमाश घटनास्थल से फरार होने में कामयाब रहे। लेकिन कैप्टन ने उनमें से एक को दौड़कर पकड़ लिया। जिसकी पहचान उसी इलाके में रहने वाले मोहम्मद इर्शाद अली हाशमी के रूप में हुयी है।

द्वारका के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) शिबेष सिंह ने बताया कि मामले के आरोपियों की गिरफ्तारी 15 मई को हुयी थी। आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। मेडिकल जांच की रिपोर्ट आने के बाद आरोपियों पर अतिरिक्त धाराएं लगायी जायेंगी। आरोपियों के एसयूवी को भी पुलिस ने जब्त कर लिया है। सेना के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह घटना दुर्भाज्ञपूर्ण है और सेना इस मामले को उचित स्तर पर ले जायेगी। वहीं घटना के सभी आरोपी फिलहाल जमानत पर हैं।

 

 

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पढ़े पंजाब केसरी अखबार।