डुसू चुनाव : ABVP को बड़ा झटका , NSUI दो सीटों पर जीती


दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डुसू) के इस वर्ष चुनाव में भारतीय जनता पार्टी(BJP) समर्थित अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, (ABVP) को करारा झटका लगा है जबकि एनएसयूआई ने अध्यक्ष पद समेत दो सीटों पर जीत हासिल की है।

एनएसयूआई के रॉकी तुशीद ने अध्यक्ष पद पर एबीवीपी के रजत चौधरी को हराया। एनएसयूआई ने 2012 के बाद तीन सीटों पर जीत हासिल की है।

छात्र संघ के लिये कल मतदान हुआ था। मतदान में कुल 1.32 लाख छात्रों में से 42.8 प्रतिशत छात्रों ने वोट डाले थे। मतगणना किंग्सवे कैंप के निकट समुदाय भवन में हुई।

बता दे कि रॉकी का नामांकन रद्द हो गया था, लेकिन हाईकोर्ट से क्लीन चिट मिलने के बाद उन्होंने चुनाव लड़ा था।

एबीवीपी ने अध्यक्ष पद के लिए रजत चौधरी जबकि उपाध्यक्ष ,सचिव और संयुक्त सचिव पद के लिए क्रमश: पार्थ राणा, महामेधा नागर और उमा शंकर को उम्मीदवार बनाया है।

एनएसयूआई ने अध्यक्ष पद के लिए रॉकी तुसीद, उपाध्यक्ष पद के लिए कुणाल सहरावत और मीनाक्षी मीणा तथा अविनाश यादव को क्रमश: सचिव और संयुक्त सचिव के पद के लिए उम्मीदवार बनाया हैं।

SFI ने अध्यक्ष पद के लिए रफात आलम को उम्मीदवार बनाया है जबकि उपाध्यक्ष पद के लिए जितेन्द्र कुमार और सचिव एवं संयुक्त सचिव पद के लिए क्रमश: कोलीशेट्टी लक्ष्मी तथा रोशन को उम्मीदवार बनाया है।

पिछले साल एबीवीपी ने चार में से तीन स्थान जीते थे। वर्ष 2015 के चुनाव में एबीवीपी को सभी चारों स्थानों पर जीत मिली थी। कांग्रेस समर्थित भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) 2007 में सभी चारों सीट पर जीता था।