स्कूल बस में आग, बाल-बाल बचे बच्चे


पूर्वी दिल्ली: अक्षरधाम मंदिर के पास मंगलवार सुबह चलती हुई मिनी स्कूल बस में आग लगने से सनसनी फैल गर्इं। हादसे के समय बस में 24 बच्चों समेत कुल 27 लोग मौजूद थे। गनीमत ये रही कि बस चालक ने इंजन से धुंआ निकलते हुए तुरंत बस रोक दी और राहगीरों की मदद से सभी लोगों को बाहर निकला लिया। इसके कुछ पल बाद ही आग ने पूरी बस को अपनी चपेट में ले लिया। खबर मिलते ही दमकल की दो गाडिय़ां मौके पर गईं, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। पूरी बस जल चुकी थी। शुरुआती जांच के बाद मंडावली थाना पुलिस आशंका जता रही है कि इंजन के पास में लगी वायरिंग में शॉर्ट सर्किट से आग लगी है। एफएसएल की तकनीकी टीम आग के सही कारणों का पता लगाने का प्रयास कर रही है। पुलिस के मुताबिक हादसा मंगलवार सुबह करीब 11.50 पर हुआ। नोएडा-24 स्थित केंद्रीय विद्यालय के छात्रा भाषा की एक प्रेतियोगिता में हिस्सा लेने दिल्ली स्थित मेक्समुलर भवन गए हुए थे।

इसके लिए स्कूल ने नोएडा की निजी ट्रांसपोर्ट कंपनी की मिनी बस (टेंपू ट्रेवलर) हायर किया था। सुबह बस चालक राम अवतार 24 बच्चों व दो महिला टीचर्स को लेकर गया था। वहां से वापस लौटते समय जैसे ही बस अक्षरधाम मेट्रो स्टेशन के सामने पहुंची, अचानक बस के इंजन से धुआं निकलना शुरू हो गया। ये देख चालक राम अवतार ने फौरन बस को एक ओर रोक दिया। फौरन बच्चों व टीचर्स से बस से नीचे उतरने के लिए कहा गया। इधर इंजन में आग लग गई। राहगीरों की मदद से फौरन बच्चों व टीचर्स को उतारा गया। कुछ ही देर में बस जलकर खाक हो गईं। पुलिस आग के सही कारणों का पता लगाने का प्रयास कर रही है।

आग की खबर मिलते ही स्कूल प्रशासन मौके पर पहुंच गया। बाद में ट्रांसपोर्ट कंपनी द्वारा भेजी गई कारों की मदद से बच्चों को स्कूल भेजा गया। उधर बस में आग लगते ही अक्षरधाम मंदिर के पास लंबा जाम लग गया। बस में आग के दौरान किसी भी वाहन चालक ने उसके पास से गुजरने की हिम्मत नहीं जुटाई। ऐसे में वाहन चालकों की लंबी-लंबी कतारें नोएडा लिंक रोड पर लग गई। सड़क के दोनों ही ओर जाम देखा गया। तमाशबीनों के कारण दमकल कर्मियों को भी मौके पर पहुंचने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। करीब 15-20 मिनट बाद ही सड़क पर ट्रैफिक चल सका। आग की घटना के बाद ट्रैफिक पुलिसकर्मी जाम खुलवाते रहे।