जानवरों से लदी गाड़ियों पर भीड़ का हमला


बाहरी दिल्ली: बाहरी दिल्ली के हरिदास नगर इलाके में गाड़ियों में भरकर भैंस व बछड़े ले जा रहे 6 लोगों पर भीड़ ने हमला बोल दिया। ये सभी हरियाणा के अलग-अलग इलाकों से करीब 85 भैंस व बछड़े गाड़ियों के जरिए गाजीपुर बूचडख़ाने ले जा रहे थे। कुछ लोग अपनी गाड़ियों छोड़ जान बचाकर भाग गए। भागने वालों में नांगलोई निवासी रहीस ने दूर जाकर पुलिस को कॉल करके घटना की जानकारी दी। तब तक गुस्साई भीड़ ने आधा दर्जन गाडिय़ों में तोड़फोड़ कर दी। भीड़ के घेरे में फंसे 6 लोगों की जमकर पिटाई कर दी। कुछ ही देर में पीसीआर व बाबा हरिदास नगर थाने की पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई। भीड़ को जैसे-तैसे खदेड़कर सभी घायलों को नजदीकी अस्पताल ले जाकर दाखिल कराया गया। जिसमें एक व्यक्ति को गंभीर चोटें आईं हैं। बाबा हरिदास नगर थाने पुलिस ने 323/ 341/ 379/ 427/ 34 के तहत अज्ञात भीड़ के खिलाफ मामला दर्जकर लिया है। शनिवार शाम को पुलिस ने कुछ लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया था।

पुलिस के मुताबिक, घायलों की पहचान गाजियाबाद के डासना निवासी सलीम (25), डासना निवासी अलीजान (40), डासना निवासी शौकीन (26), दिलशान (22), गाजियाबाद के पीपलाना निवासी सैफ अली (15) और बुलंदशहर के मीरपुर निवासी काला (32) के रूप में हुई है। इनमें सलीम व अलीजान सगे भाई हैं। शौकीन, दिलशान दोनों अलीजान के बेटे हैं। भीड़ की पिटाई में अलीजान को ज्यादा चोटें आई हैं। हाथ और पैर में फैक्चर बताया जा रहा है। यह सभी हरियाणा के चरखी दादरी, झज्जर व अन्य एरिया से भैंस व बछड़ों को खरीदकर ले जा रहे थे। शुक्रवार रात इन लोगों की गाडिय़ां बाबा हरिदास नगर एरिया के झड़ौदा कलां में नाले के पास मोड़ पर टर्न ले रही थीं। वहां काफी लोग पहले से ही जमा थे। इनमें कुछ बस के इंतजार में खड़े थे। टाटा 407 व बोलेरो पिकअप गाडिय़ों में ठूंस-ठूंसकर भरे गए करीब 85 भैंस व बछड़ों पर कुछ लोगों की नजर पड़ गई। भीड़ ने हल्ला मचाते हुए गाड़ियों को जबरन रुकवा लिया।

गाड़ियों में ड्राइवर समेत बाकी लोगों से भीड़ ने सवाल जवाब शुरू किए। पूछने पर पता चला कि सभी जानवरों को गाजीपुर बूचडख़ाने लेकर जा रहे हैं। यह सुनकर भीड़ ने जानवरों को कटाने का आरोप लगाते हुए हमला कर दिया। इसकी अफवाह पास ही गांव झड़ौदा कलां तक भी पहुंच गई। गुस्साई भीड़ के हाथ जो भी आया। उसे बुरी तरह पीटते रहे। इन गाडिय़ों से आगे टाटा 407 में भैंसे ले जा रहे है। नांगलोई निवासी रहीस डर के मारे अपनी जान बचाकर गाड़ी छोड़कर भाग गए। उन्होंने सबसे पहले अपने मालिक सलमान को फोन करके घटना के बारे में बताया। मालिक के कहने पर तुरंत पुलिस कंट्रोल रूम पर रहीस ने पुलिस को कॉल की।

करीब 8:35 बजे की कॉल मिलने पर 10 मिनट में ही पीसीआर और लोकल पुलिस टीमें भारी संख्या में पहुंच गई। तब तक भीड़ ने सभी गाड़ियों से भैंस व बछड़ों को बाहर निकाल दिया था। पुलिस के पहुंचते ही भीड़ को हल का बल प्रयोग कर तितर-बितर कराया गया। गुस्साई भीड़ ने गाड़ियों में तोडफ़ोड़ कर क्षतिग्रस्त कर दिया है। घायलों को देर रात इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई। अब तक हमलावरों की पहचान नहीं हो पायी है। पुलिस का कहना है कि, हमलावर पास के गांव झड़ौदा कलां के रहने वाले हो सकते हैं। पुलिस ने 6 गाडिय़ों को जब्त कर लिया है।