थियेटर पर जीएसटी का असर, दर्शक नदारद


नई दिल्ली: जीएसटी लागू होने के बाद लोगों की मिलीजुली प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। कोई इसे अच्छा कदम बता रहा है तो कोई इसका विरोध कर रहा है। इसी बीच दिल्ली के लोगों का मनोरंजन करने वाले थियेटर जीएसटी लागू होने के बाद से काफी परेशानी से गुजर रहे हैं। राजधानी में रोजाना कई नाटकों का मंचन किया जाता है। जहां एक तरफ पहले ही थियेटर की तरफ लोगों का रुझान काफी कम है वहीं इस पर जीएसटी लागू होने से थियेटर में दिलचस्पी रखने वाले लोग भी इस से मुंह मोडऩे लगे हैं।

श्रीउमापति थियेटर ग्रुप के डायरेक्टर एसपी सिंह सेंगर का कहना है कि जीएसटी के तहत थियेटर की टिकटों पर 18 प्रतिशत का टैक्स लगाया गया है जिससे यहां जो लोग आते थे, उन्होंने भी आना कम कर दिया है। उन्होंने बताया कि जहां पहले नाटक की टिकट 300 रुपये की हुआ करती थी, वहीं जीएसटी लागू होने के बाद यह बढ़कर 354 रुपये हो गई है।

– सिमरनजीत सिंह