हाइटेक लुटेरों से थर्राया पूर्वी जिला


पूर्वी दिल्ली: यमुनापार के पूर्वी जिला इलाके में हाइटेक लुटेरों ने पुलिस की नाक में दम कर रखा है। लुटेरों को हाइटेक इसलिए कहा जा रहा है चूंकि वह लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए लक्जरी कारों का इस्तेमाल कर रहे हैं। हाल ही में मयूर विहार और पांडव नगर इलाके से दो ऐसी वारदात सामने आईं हैं। जिनमें लुटेरों ने लक्जरी कारों का इस्तेमाल कर के वारदात को अंजाम दिया है। मयूर विहार में पांच बदमाशों ने पुलिसकर्मी बनकर मथुरा के कारोबारियों से 70 किलो चांदी, तीन मोबाइल और कार लूट ली। वहीं दूसरी ओर पांडव नगर इलाके में बदमाशों ने एक निजी कपनी के डीजीएम को बंधक बनाकर करीब सवा तीन लाख रुपए के गहने और कैश लूट लिया। दोनों ही मामलों में पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

मामला मयूर विहार, जहां मथुरा के चांदी कारोबारी खंडेलवाल (28) से पुलिस की वर्दी पहने कुछ बदमाशों ने 70 किलो चांदी और उनकी होंडा सिटी कार लूट ली। बदमाशों ने कार के कागज पूरे न होने की बात कर पीडि़तों को थाने चलने के लिए कहा था, लेकिन अक्षरधाम मंदिर के पास बदमाशों ने तमंचा दिखाकर पीडि़तों से उनके तीन मोबाइल फोन भी लूट लिए। बदमाशों के जाने के बाद पीडि़तों ने राहगीर के फोन से मामले की सूचना पुलिस को दी। खबर मिलते ही जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए। पुलिस के मुताबिक शनिवार सुबह सौरव को चांदी बेचने के लिए दिल्ली के कूचा महाजनी जाना था। उनके साथ चाचा मुकेश खंडेलवाल और कर्मचारी रवि भी था। वह अपनी होंडा सिटी कार से दिल्ली के लिए निकले थे। सुबह करीब 8.30 बजे तीनों जैसे ही नोएडा लिंक रोड पर मयूर विहार फ्लाईओवर पर पहुंचे, अचानक एक मारुति अर्टिगा कार ने ओवरटेक कर इनकी कार को रुकवा लिया।

अर्टिगा से पुलिस की वर्दी पहने दो बदमाश व एक अन्य युवक उतरे। तीनों ने खुद को पुलिसकर्मी बताकर कार के कागजात मांगे व पूछताछ करने लगे। कागजात में कमी निकालकर बदमाशों ने तीनों से थाने चलने के लिए कहा। बदमाशों ने रवि को अपनी कार में बिठा लिया। आरोपियों ने अक्षरधाम मंदिर के पास पहुंचकर पीडि़तों की कार रुकवा ली। इसी बीच एक बदमाशों ने तमंचा निकालकर सौरव मुकेश को उनकी कार से उतार दिया। इधर रवि को भी अपनी कार से उतार दिया। बदमाशों ने तीनों से मोबाइल लिये। बाद में चांदी समेत वह उनकी कार लेकर फरार हो गए। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। पीडि़तों की शिकायत पर मामला दर्ज कर पुलिस छानबीन में जुट गई है। मयूर विहार थाना पुलिस नोएडा लिंक रोड पर लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद से बदमाशों की पहचान करने का प्रयास कर रही है।

मामला पांडव नगर, जहां एक निजी कंपनी में डीजीएम के पद पर कार्यरत मनीष मारवाह (41) को बंधक बनाकर सवा तीन लाख रुपए के गहने और कैश लूट लिया। ऑडी कार सवार चार बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया। आरोपी पीडि़त को नोएडा स्थित अट्टा मार्केट ले गए। यहां उनके एटीएम कार्ड से बदमाशों ने जबरन 20 हजार रुपये भी निकलवा लिए। इसके बाद बदमाश पीडि़त को कार में बंधक बनाकर छोड़ गए। वारदात गुरुवार रात की है। पुलिस के मुताबिक पीडि़त मनीष परिवार सहित नोएडा सेक्टर-137 में रहते हैं। मनीष एक अखबार में डिप्टी जनरल मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं। गुरुवार रात करीब 12 बजे मनीष दिल्ली से अपने घर लौट रहे थे। इस बीच नोएडा लिंक रोड पर जैसे ही उनकी कार अक्षरधाम फ्लाईओवर से नीचे उतरी, अचानक पीछे से आई सफेद रंग की ऑडी कार ने उनको कार को ओवरटेक कर रोक लिया। तीन लड़के कार से उतरे और वह जबरन मनीष की कार में अंदर बैठ गए। बदमाशों ने मनीष को चालक की सीट से हटाकर पीछे सीट के नीचे हाथ पैर बांधकर डाल लिया। बदमाशों ने मनीष से उसकी डेढ़ लाख के गहने लूट लिए। जिनमें एक चेन, अंगूठी और कड़ा था।