प्रद्युम्न हत्याकांड मामले में बस कंडक्टर अशोक समेत स्कूल के दो अधिकारी CBI हिरासत में


नयी दिल्ली/गुरुग्राम : केन्द्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई)ने हरियाणा में गुरुग्राम स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल के दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या की जांच आज शुरू कर दी जिसके तहत उसकी एक टीम स्कूल पहुंच गयी है।

इस मामले में आज हरियाणा पुलिस द्वारा गिरफ्तार आरोपी बस कंडक्टर अशोक और रेयान इंटरनेशनल स्कूल के दोनों अधिकारियों को एक दिन की सीबीआई हिरासत में भेज दिया गया।

सीबीआई ने इस मामले में कल प्राथमिकी दर्ज करके जांच अपने हाथ में ली थी। नामी गिरामी स्कूल में हुयी प्रद्युम्न की निर्मम हत्या को लेकर देशभर में आक्रोश व्याप्त हो गया था और लोगों के कड़े विरोध प्रदर्शन को देखते हुए आखिर इसकी जांच सीबीआई को सौंपी गयी। प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर ने सीबीआई जांच में हो रही देरी के लिए सरकारी तंत्र पर सवाल उठाया था।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पिछले सप्ताह सीबीआई को यह मामला सौंपा था। श्री खट्टर ने प्रद्युम्न के माता-पिता से भेंट करने के बाद प्रद्युम्न की मौत की जांच सीबीआई को सौंपने की घोषणा की थी। पुलिस ने इस मामले में बस कंडक्टर अशोक कुमार (42)को गिरफ्तार किया है जबकि प्रद्युम्न के परिवार को पुलिस की जांच पर कतई भरोसा नहीं था और उन्होंने सीबीआई जांच की मांग की थी।

पुलिस के मुताबिक अशोक ने पहले प्रद्युम्न के साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की लेकिन जब प्रद्युम्न ने उसे ऐसा करने से रोका तो चाकू से वार करके उसकी हत्या कर दी। वरुण ठाकुर का दावा है कि इस हत्या में अशोक को ढ़ाल बनाया जा रहा है इसका तार कहीं और जुड़ा है। गुरुग्राम पुलिस ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल के मालिकों पिंटो परिवार को अगले सप्ताह पूछताछ के लिए बुलाया है। बंबई उच्च न्यायालय ने पिंटो परिवार की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी है और उनके देश छोड़कर जाने पर भी पाबंदी लगायी गयी है।