दिल्ली-एनसीआर में स्वाइन फ्लू के बढ़े मामले


aiims

दक्षिणी दिल्ली: दिल्ली में बारिश के बाद स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में अब तक इसके 21 मरीज दाखिल हो चुके हैं। इनमें सात मरीज इसी माह भर्ती हुए हैं। इनमें से दो की हालत गंभीर है और उन्हें आईसीयू में रखा गया है। वहीं एलएनजेपी में इसके तीन मरीज भर्ती किए गए हैं। दिल्ली में पहली बार 2009 में स्वाइन फ्लू यानि एच1एन1 वायरस की पुष्टि हुई थी। विशेषज्ञों का कहना है कि यह वायरस वर्ष में दो बार ठंड और बरसात के मौसम में एक्टिव होता है। हालांकि, कुछ वर्षों से यह वायरस वातावरण में मिल गया है। बहुत से लोगों में यह सामान्य इन्फ्लुएन्जा की तरह रहता है।

एच3एन2 वायरस भी सक्रिय…
विशेषज्ञों का कहना है कि वातावरण में एच1एन1 वायरस के साथ एच3एन2 वायरस भी सक्रिय हैं। ऐसे में कई बार पता नहीं चल पाता है कि कौन सा वायरस है। इसलिए जब शुरू में ही सांस लेने में दिक्कत हो तो इलाज के लिए पहुंचना चाहिए।