‘केजरी ने मेरे सम्मान को ठेस पहुंचाई’


arun jetly

नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पटियाला हाउस अदालत में शनिवार को डीडीसीए मानहानि मामले कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उनके खिलाफ कई अपमानजक टिप्पणियां की जिससे उनकी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचा है। अदालत में गहमागहमी के बीच कार्यवाही के दौरान, केन्द्रीय मंत्री द्वारा दर्ज आपराधिक मानहानि मामले का सामना कर रहे मुख्यमंत्री और पांच अन्य आप नेताओं ने कई कारणों से जेटली की गवाही दर्ज करने का काम रोकने का नाकाम प्रयास किया। जेटली की गवाही रुकने का एक कारण केजरीवाल द्वारा प्रसिद्ध वकील राम जेठमलानी की जगह किसी अन्य वरिष्ठ वकील से अपनी पैरवी कराना भी है।

मुख्यमंत्री के अलावा आप नेताओं आशुतोष, कुमार विास और संजय सिंह ने भी इस आधार पर स्थगनादेश मांगा कि उनके वकील अस्वस्थ हैं। अदालत ने उनकी याचिका खारिज कर दी और जेटली का बयान दर्ज करने का काम जारी रखा। छह आप नेताओं के कथित बयानों के संदर्भ में वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि कथित डीडीसीए विवाद के संबंध में केजरीवाल और अन्य द्वारा कई झूठे और मानहानिपूर्ण आरोपों के कारण जनता के बीच उनकी प्रतिष्ठा पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा।

जेटली की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता सिद्धार्थ लूथरा और वकील मनोज तनेजा ने केजरीवाल व अन्य के स्थगनादेश के अनुरोध का विरोध किया और कहा कि यह महत्वहीन और देरी करने की रणनीति का हिस्सा है। जेटली का बयान दर्ज होने का काम पूरा नहीं हो सका और अदालत ने इस संबंध में आगे की सुनवाई के लिए 25 सितंबर की तारीख तय की।