कैब चालक को अगवाकर कार लूटी, पांच लुटेरे गिरफ्तार


arrests

बाहरी दिल्ली: उत्तर-पश्चिमी जिले के मुखर्जी नगर पुलिस ने चालक को अगवा कर कैब लूटने वाले पांच बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों से स्विफ्ट डिजायर कार के अलावा पीडि़त का बैग और दो फर्जी नंबर प्लेट बरामद किए हैं। आरोपियों ने खुलासा किया है कि आर्थिक तंगी की वजह से उनलोगों ने वारदात को अंजाम दिया है। पकड़े गये दो आरोपियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। जबकि एक एमबीए की पढ़ाई कर चुका है। डीसीपी मिलिंद महादेव डुंबरे के अनुसार, मूलत: गांव झूंदपुर ग्रेटर नोएडा निवासी धर्मेद्र पेशे से कैब चालक है।

गत 28 जुलाई को जीटीबी नगर से ऐप के जरिए उसके कैब को बख्तावरपुर जाने के लिए बुक किया गया। जहां पहुंचने पर पांच लोग उसके कैब में सवार हुए। बुराड़ी के पास पेशाब करने के बहाने बदमाशों ने उसकी कार रूकवायी और फिर धर्मेद्र को बंधक बना लिया। बदमाशों ने उसकी पिटाई करने के बाद पैर हाथ-बांध कर कार लेकर फरार हो गये। पीडि़त की शिकायत पर एसएचओ अनिल कुमार चौहान के नेतृत्व में सब इंस्पेक्टर प्रवीण शर्मा, तेज सिंह, अरूण कुमार हेडकांस्टेबल प्रशांत और कांस्टेबल पवन की पुलिस टीम ने मामले की जांच शुरू की।

पुलिस ने आरोपियों के मोबाइल फोन नंबर की जांच शुरू की। साथ ही पुलिस ने ओला कैब के जीपीएस की जानकारी हासिल की। पुलिस ने दीपक उर्फ छत्तर पाल को हिरासत में लेकर पूछताछ की। पुलिस ने उसकी निशानदेही पर वारदात में शामिल चार अन्य आरोपियों नत्थुपुरा निवासी राजेश कुमार मेहता उर्फ प्रकाश मेहता, पुनीत उर्फ मोंटी उर्फ सोनू, राजेश शर्मा और नीरज शर्मा को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस को जांच में पता चला कि आरोपी ने राजेश मेहता और पुनीत पर अपराधिक मामले दर्ज हैं।