महबूबा सरकार कर रही है पीडीपी के नेता पूर्व का उत्पीडऩ : कांग्रेस


Congress

नई दिल्ली : कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि जम्मू कश्मीर सरकार पीडीपी के पूर्व नेता तारिक हामिद कारा का उत्पीडऩ कर रही है क्योंकि वह लगातार राज्य सरकार की आलोचना कर रहे हैं कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाल ने आज यहां जारी एक बयान में कहा कि श्री कारा पीपुल्स डेमोक्रेटि पार्टी(पीडीपी) के संस्थापक सदस्य रहे हैं और वह संविधान के तहत कश्मीर समस्या के समाधान की बात करते हैं।

वर्ष 2014 के चुनाव में श्री कारा ने जबरदस्त जीत दर्ज की लेकिन उसी वर्ष अक्टूबर में जब पीडीपी ने भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन किया तो उन्होंनें इसके खिलाफ आवाज उठायी और इसे राजनीतिक अवसरवादिता तथा जनादेश का अनादर करार दिया। श्री सुरजेवाला ने कहा कि उनकी इस आलोचना के बाद सरकार ने उन्हें तंग करना शुरू कर दिया और उन्हें सबसे पहले सराकर द्वारा गठित वार्ता समिति से हटाया गया। पीडीपी नेता मुफ्ती मोहम्मद सईद के निधन के बाद श्री कारा ने पीडीपी-भाजपा गठबंधन को बेमेल करार देते हुए इसकी तीखी आलोचना शुरू कर दी थी।

नेतृत्व की आलोचना के बाद पिछले वर्ष सितम्बर में उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि उनके इस्तीफा देने के बाद उनके आलोचना के स्वर और तीखे होने से तिलमिलायी राज्य सरकार ने उनके पुरखों की संपत्ति को अवैध बताकर जब्त कर लिया। श्री सुरजेवाला ने इसे श्री कारा का उत्पीडऩ करार दिया और आरोप लगाया कि राज्य सरकार सत्ता का दुरुपयोग आलोचकों को तंग करने और उत्पीडन के लिए कर रही है। उन्होंने राज्य सरकार की कार्रवाई को दीवालिया राजनीति का परिणाम बताया।