अब इलाज के आड़े नहीं आएगा पैसा: केजरीवाल


नई दिल्ली: जब घर में कोई बीमार हो जाता है तो हमे उसकी चिंता नहीं होती, बल्कि चिंता यह हो जाती है कि इसके इलाज के लिए पैसा कहा से आएंगे। लेकिन अब दिल्ली वालों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। अब दिल्ली सरकार राजधानी के हर नागरिक के इलाज कि जिम्मेदारी लेगी। उक्त बातें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कही। केजरीवाल दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में सरकारी अस्पतालों में वेटिंग लिस्ट होने पर प्राइवेट अस्पतालों में इलाज कराने की स्कीम को लॉन्च कर रहे थे। केजरीवाल ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज स्वास्थ्य सेवाएं बहुत महंगी हो गई हंै। अगर कोई बीमार हो जाए तो सबसे बड़ी चिंता होती है कि पैसा कहा से आएगा। अब आपको चिंता करने की नहीं जरूरत है। क्योंकि अब दिल्ली सरकार आपके साथ है।

केजरीवाल ने कहा कि मैं पिछले दिनों सात सरकारी अस्पतालों में औचक दौरे पर गया था। अस्पतालों में लोगों से बात की तो मरीजों का कहना था कि हालात बदले हैं और सबने सरकारी अस्पतालों के इलाज के अनुभव को अच्छा करार दिया। उन्होंने कहा कि यह बहुत बड़ा बदलाव है। एक चीज देखने को मिली की सरकार की इन योजनाओं के बारे में डॉक्टरों को भी नहीं पता था। अगर कोई मरीज अस्पताल में आए तो उसका तुरंत टेस्ट नहीं कर सकते हैं तो उसे प्राइवेट अस्पतालों में रेफर किया जा सकता है। केजरीवाल ने कहा कि कुछ लोग इस योजना पर सवाल उठा रहे हैं कि इतने पैसे में तो सरकारी अस्पतालों में प्राइवेट जैसा इलाज हो जाएगा। लेकिन जब तक व्यवस्था नहीं है तब तक तो हमें दिल्ली के हर नागरिक के इलाज की चिंता करनी होगी। क्योंकि सरकार स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में प्राथमिकता के तौर पर काम कर रही है। कई जगह अस्पतालों का निर्माण चल रहा है।

वह दो-तीन साल में बनकर तैयार होंगे, लेकिन जब तक हमें जरूरतमंद लोगों का इलाज करवाना है। हम सरकारी अस्पतालों को जितना पैसा चाहिए उतना दे देंगे। अस्पताल प्रस्ताव लेकर आए 24 घंटे के भीतर प्रपोजल पास कर देंगे। हमारी कोशिश है कि ऐसा समय आए कि सारे टेस्ट और सर्जरी एक माह में हो। किसी को भी इंतजार न करना पड़े। केजरीवाल ने कहा कि किसी भी राष्ट्र का निर्माण सरकारे नहीं जनता करती है। स्कूलों और सड़कों का निर्माण होना चाहिए। दिल्ली सरकार स्वास्थ्य और शिक्षा पर निवेश के रूप में खर्च कर रही है। इससे यह लोग दिल्ली को आगे लेकर जाएंगे। केजरीवाल ने कहा कि आज जो डॉक्टर यहां आए हुए उनको मेरा सलाम। यह बहुत बड़ा काम है। डॉक्टर को कोसना आसान है।

अस्पतालों में भीड़ होती उसके बावजूद काम करते हैं। ख्याति प्राप्त डॉक्टर करोड़ों की नौकरी छोड़कर सरकारी अस्पताल में सेवाभाव से काम कर रहे हैं। हम डॉक्टर और अस्पतालों को किसी भी चीज की कमी नहीं होने देंगे। जिनके पास अच्छे आइडिया हैं वह मेरे पास लेकर आएं उस पर काम करेंगे। हम सब लोग मिलकर दिल्ली के स्वास्थ्य व शिक्षा को मॉडल के रूप में स्थापित करेंगे।