अब चांदनी चौक और दिल्ली विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशन पर मिलेगी इलेक्ट्रिक स्कूटी की सुविधा


नई दिल्ली : दिल्लीवासियों के लिए एक खुशखबरी। अब दिल्ली के चांदनी चौक और दिल्ली विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशन से जुलाई के अंतिम में लोग इलेक्ट्रिक स्कूटी से आसपास के इलाकों में सफर कर सकेंगे। एक निजी कंपनी द्वारा पिछले साल करोल बाग और झंडेवालान मेट्रो स्टेशन पर इसकी शुरुआत की थी, जिसके तहत लगभग पांच किलोमीटर के दायरे में लोगों को मेट्रो स्टेशन से घर और ऑफिस छोड़ने की सुविधा दी जा रही है।

अब दो और मेट्रो स्टेशनों पर यह सेवा देने वाली कंपनी के संस्थापक अवनीश रामपाल का कहना है कि व्यस्त इलाकों में रिक्शे से सफर करने में दिक्कत आती है। करोल बाग जैसे इलाके में तो हर वक्त जाम जैसी स्थिति बनी रहती है। ऐसे में इलेक्ट्रिक स्कूटी प्रभावी है। उन्होंने बताया कि जुलाई के अंत में चांदनी चौक और दिल्ली विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशन पर यह सुविधा मिलने लगेगी। नॉर्थ कैंपस में स्थित कॉलेजों के बाहर भी यह सेवा शुरू करने की योजना है, जिसका सबसे ज्यादा फायदा छात्रों को मिलेगा।

पुरानी दिल्ली में स्थित धरोहरों के दीदार के लिए भी यह सुविधा मिलेगी। पर्यावरण के नजरिये से इलेक्ट्रिक स्कूटी से सफर करना बेहतर है, क्योंकि रिक्शों और निजी वाहनों से इन व्यस्त इलाकों में जाम लगा रहता है, जिससे प्रदूषण बढ़ता है। इलेक्ट्रिक स्कूटी से समय की बचत भी होगी, क्योंकि रिक्शा चालक व अन्य वाहन सवारियां पूरी करने के बाद ही कहीं जाने को तैयार होते हैं।

इस सर्विस का न्यूनतम किराया

अवनीश ने बताया कि मौजूदा समय में लोगों से न्यूनतम 15 रुपये किराया लिया जाता है, इसके बाद पांच रुपये प्रति किलोमीटर के हिसाब से किराया तय होता है। इस समय 40 इलेक्ट्रिक स्कूटी चल रही हैं। इस सर्विस के लिए महिला चालक भी नियुक्त की गई हैं।

ऑन कॉल सुविधा

इस सर्विस के तहत लोगों को ऑन कॉल की सुविधा भी दी जाएगी। लोग कॉल करके इलेक्ट्रिक स्कूटी की सेवा घर और मेट्रो स्टेशन से भी ले सकते हैं। अवनीश ने बताया कि आने वाले समय में एप की मदद से भी लोग इस सेवा की लाभ ले सकेंगे। उन्होंने बताया कि हम तीन दोस्तों निखिल मलिक और करन चड्ढा की मदद से यह प्रोजेक्ट सफल हुआ है। उनका दावा है कि इस तरह की सुविधा देशभर में और कहीं नहीं है।