प्रगति मैदान 2019 तक नए स्वरूप में दिखेगा


नयी दिल्ली : दिल्ली का प्रगति मैदान जून 2019 तक एक नए स्वरूप में दिखेगा। इस प्रदर्शनी परिसर को एक विश्वस्तरीय प्रदर्शनी सह-सम्मेलन स्थल के तौर पर विकसित किया जाएगा जो अत्याधुनिक होगा। साथ ही इसकी छत पर एक बड़ा हैलीपेड का निर्माण और 500 कमरों का होटल भी बनेगा। इस निर्माण कार्य में 2,254 करोड़ रुपये की लागत का अनुमान लगाया जा रहा है। हालांकि, यह खर्च यातायात से जुड़े बदलावों में आने वाले खर्च से अलग है जिसमे 800 करोड़ रुपये तक की आ सकती है।

इंडिया ट्रेड प्रमोशन ऑर्गनाइजेशन के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक एल. सी. गोयल ने कहा, इस परिसर में 1,22,000 वर्गमीटर का प्रदर्शनी स्थल होगा जो की विश्व में सबसे बड़ा होगा। साथ ही हमारे पास करीब 15 एकड़ का खुला प्रदर्शनी स्थल भी होगा जिसमें चार खुले रंगभूमि सभागार (एंफीथिएटर) भी होंगे। उन्होंने कहा कि यह परियोजना दिल्ली की शानोशौकत को बढ़ाने में और भारत को एक वैश्विक शक्ति के रूप मेंं रेखांकित में मदद करेगी  हालांकि, भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले के दर्शकों को इस साल और अगले साल निर्माणकार्य की वजह से थोड़ी दिक्कतों का सामना करना होगा। उन्होंने कहा कि इस साल मेले का दायरा उतना बड़ा नहीं होगा।