प्रशांत विहार पुलिस की सराहनीय पहल


पश्चिमी दिल्ली: दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक के दिशा निर्देशों पर चलते हुए प्रशांत विहार पुलिस ने पेट्रोलिंग के तरीके में बदलाव किया है। रात्रि पेट्रोलिंग में अब पुलिस के साथ इलाके के जिम्मेदार नागरिक भी शामिल हो रहे हैं। पुलिस के साथ लोग पूरे इलाके की पैदल पेट्रोलिंग कर रहे हैं, जिससे पुलिस के कामकाज में बदलाव के साथ एक नया अध्याय भी जुड़ रहा है। पुलिस की इस पेट्रोलिंग से जहां असामाजिक तत्वों में हड़कम्प मच गया है, वहीं इलाके की जनता पुलिस के इस कदम से खुश है। प्रशांत विहार पुलिस की इस नाइट पेट्रोलिंग में काफी संख्या में लोग शामिल हो रहे हैं। एसएचओ अशोक कुमार के नेतृत्व में पुलिसकर्मियों के अलावा इलाके की महिलाएं भी काफी संख्या में नाइट पेट्रोलिंग में शामिल हो रही हैं।

प्रशांत विहार पुलिस के साथ लोग रात में 2- 2 घंटे पैदल चलकर पेट्रोलिंग कर रहे हैं। इस दौरान अवैध कारोबार करने वालों को समझाते हैं और दुबारा कोई गैरकानूनी कार्य न करने की हिदायत देते हैं। सूत्रों की मानें तो पुलिस के साथ जागरुक पुलिस महिला मित्रों ने करीब 8 किलो मीटर पैदल पेट्रोलिंग की और इलाके की समस्याओं को देखा और समाधान के लिए अपनी राय जाहिर की जिसके लिए प्रशांत विहार एसएचओ ने पुलिस कर्मियों को आम जनता को किसी बात की परेशानी न होने की हिदायतें दी। पुलिस के इस कदम की आम लोगों ने सराहना की है और पुलिस के साथ आंख कान बनकर साथ चलने का भरोसा दिलाया है। महिला पुलिस मित्रों, नीना सिंघल, ज्योति शर्मा और उनके अन्य साथियों ने इस पेट्रोलिंग में सहयोग दिया और पुलिस के साथ कंधे से कन्धा मिलाकर चलने का संकल्प लिया है।

पुलिस ने थाने में मनाया रक्षाबंधन

प्रशांत विहार पुलिस ने रक्षा बंधन के अवसर पर एक और नई पहले की है। थाने के अदंर पुलिस कर्मियों ने अपनी साथी महिला पुलिसकर्मियों और पुलिस महिला मित्रों से राखी बधंवाकर कर बहन भाई का पवित्र त्यौहार मनाया है। इसकी शुरुआत खुद एसएचओ अशोक कुमार ने राखी बंधवाकर की, जिसके बाद थाने में मौजूद सभी पुरुष पुलिसकर्मियों ने भी राखी बंधवाकर सभी बहनों को आशीर्वाद दिया। थाने में कार्यत सभी पुलिस महिला कर्मियों ने ख़ुशी जाहिर की और कहा कि हम कई बार डयूटी के कारण अपने घर जाकर अपने भाईयों को राखी नहीं बांध पाते पर अगर थाने के अंदर ही हमें बहनों की तरह हमारे सहकर्मी राखी बांधने का अवसर देते हैं तो इससे बेहतर और क्या हो सकता है। थाने में सहकर्मियों को राखी बांधे जाने पर सभी महिला पुलिसकर्मियों ने ख़ुशी जाहिर की है। साथ ही इलाके से आई महिला पुलिस मित्रों ने भी थानाध्यक्ष अशोक कुमार समेत सभी पुरुष पुलिसकर्मियों को राखी बांधी और आशीर्वाद लिया।

– कुमार गजेन्द्र