राष्ट्रपति ने दी मंजूरी, कैलाश गहलोत और राजेन्द पाल गौतम बनेंगे मंत्री


नयी दिल्ली : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दिल्ली सरकार में दो नये मंत्रियों की नियुक्ति को आज मंजूरी मिलने के बाद दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने आज कैलाश गहलोत और राजेन्द पाल गौतम को मंत्री पद की शपथ दिलायी। इस मौके पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के अलावा विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल और दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव एमएम कुट्टी सहित सरकार और राजनिवास के कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। गृह मंत्रालय की ओर से जारी अधिसूचना में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अनुशंसा पर मंत्री पद से कपिल मिश्रा को हटाने और दो आप विधायकों कैलाश गहलोत एवं राजेन्द्र पाल गौतम को मंत्री बनाने को राष्ट्रपति से मंजूरी मिलने की बात कही गयी।

दोनों नवनियुक्त मंत्रियों को शपथ ग्रहण के तुरंत बाद केजरीवाल ने विभागों का भी वितरण कर दिया। सरकार की ओर से दी गयी आधिकारिक जानकारी के अनुसार गहलोत को कानून एवं न्याय, परिवहन, सूचना प्रोद्यौगिकी और प्रशासनिक सुधार विभाग सौंपे गये हैं।
इससे पहले कानून और न्याय विभाग उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के पास था। सिसोदिया को इस विभाग की जिम्मेदारी मंत्री पद से हटाये गये कपिल मिश्रा से लेकर अतिरिक्त प्रभार के तौर पर सौंपी गयी थी जबकि परिवहन विभाग का अतिरिक्त प्रभार अभी स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द, जैन संभाल रहे थे। जैन से पहले परिवहन विभाग का प्रभार श्रम मंत्री गोपाल राय के पास था।

गौतम को जल मंत्री बनाया गया है। उन्हें पर्यटन, समाज कल्याण, एससी एसटी, भाषा, कला एवं संस्कृति और गुरऊद्वारा चुनाव विभाग भी सौंपे गये हैं। अभी तक पर्यटन और जल मंत्रालय मिश्रा के पास था। केजरीवाल ने गत 6 मई को मंत्रिमंडल से मिश्रा को हटाकर गहलोत और गौतम को शामिल करने के फैसले पर उपराज्यपाल के माध्यम से गृह मंत्रालय से मंजूरी मांगी थी। हालांकि मंत्रालय की मंजूरी मिलने में देरी होने का मुद्दा उठाते हुये केजरीवाल ने बुधवार को केन्द्र सरकार पर जानबूझ कर मंजूरी नहीं देने का आरोप लगाया था।