रेल पटरियों पर सफाई के बारे में सर्वे करेगा रेलवे


Railways

नई दिल्ली : स्वच्छता अभियान का विस्तार करते हुए रेलवे एक स्वतंत्र संगठन के जरिए व्यस्त रेल मार्गों पर पटरियों की साफ-सफाई का सर्वे करेगा और अपने 16 जोनों को उनके प्रदर्शन के आधार पर रैंक देगा। रेलवे ने क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा 407 स्टेशनों पर किए गए इसी किस्म के सर्वे के परिणाम हाल ही में जारी किए हैं।

रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सरकार के स्वच्छता अभियान के तहत पटरियों को साफ रखने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। कई स्थानों पर रेलवे की पटरियां कचरे डालने की जगह जैसी दिखती हैं जहां बचा हुआ खाना, प्लास्टिक की बोतलें, डिब्बे हर ओर फैले नजर आते हैं। ट्रेनों से गिरने वाला रेल यात्रियों का मल भी चिंता का बड़ा विषय है।

अधिकारी ने बताया कि इससे पटरियों को बहुत नुकसान पहुंचता है। कई रेल संभागों ने स्टेशनों के निकट सफाई के लिए यंत्रचालित प्रणाली का इस्तेमाल शुरू किया है। इसके अलावा कई रेलगाडिय़ों में बायो-टॉयलेट भी लगाए गए हैं ताकि पटरियों मल-मूत्र ना गिरे। दो अक्तूबर, 2014 को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान शुरू किया था तब रेलवे ने भी ‘स्वच्छ रेल, स्वच्छ भारत अभियान’ शुरू किया था।

– भाषा