एससी छात्रों के संबंध में यूजीसी ने देशभर की यूनिवर्सिटीज को भेजा सर्कुलर


पश्चिमी दिल्ली: यूजीसी ने देशभर की केंद्रीय, राज्य व मानद विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को एक सर्कुलर भेजा है। सर्कुलर में राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग द्वारा सुझाएं गए कार्यक्रमों को लागू करने संबंधी विशेष दिशा निर्देश दिए गए हैं। एमएचआरडी से यूजीसी को प्राप्त इस सर्कु लर में देशभर में चल रहे छात्रों के एडमिशन के संदर्भ में दिशा-निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही सर्कुलर जारी होने के एक महीने के अंदर सभी यूनिवर्सिटीज को बिंदुवार रिपोर्ट देने को कहा गया है। डीयू एकेडमिक काउंसिल के मेंबर प्रो. हंसराज सुमन ने बताया कि यूजीसी ने अपने पत्र के साथ एमएचआरडी का एक सर्कुलर सभी यूनिवर्सिटीज के वाइस चांसलर को भेजा है। इसमें अनुसूचित जाति के मुद्दों पर त्वरित कार्रवाई करने को कहा गया है।

सर्कुलर में छात्र संबंधी सुविधाएं, एससी छात्रों के हॉस्टलों में साफ-सफाई, आरक्षण नीति की सभी सुविधाएं लिखित रूप से लागू करने, शोषण के खिलाफ प्राथमिक रिपोर्ट दर्ज करने, एससी छात्रों के लिए स्पेशल कोचिंग की सुविधाएं उपलब्ध कराने, स्कॉलरशिप पर विशेष ध्यान देने और सुरक्षा की गारंटी देने को कहा गया है। इसके अलावा सफाई कर्मचारियों के बच्चों और कूड़ा उठाने वाले लोगों के प्रति विशेष ध्यान देने की बात भी कही गई है। उन्होंने बताया कि सर्कुलर में यह भी कहा गया है कि सरकार से प्राप्त ग्रांट को संवैधानिक नियम और उपनियमों के तहत लागू किया जाए। इसके अलावा सरकार एवं अन्य सभी लाभ प्रदान करने वाली अनुसूचित जाति को सुविधाएं देने वाली संस्थाएं कल्याणकारी योजनाओं को लागू करें। यह सर्कुलर ऐसे समय में आया है जब पूरे देश में एडमिशन का दौर चल रहा है।