राष्ट्रपति चुनाव में शत्रुघ्न सिन्हा व कीर्ति आजाद कर सकते हैं क्रॉस वोटिंग!


नई दिल्ली: राष्ट्रपति चुनाव प्रचार के चलते राजग व विपक्ष में चल रहे दंगल में पक्ष तथा विपक्ष में क्रॉस वोटिंग की संभावनाओं पर भी समीक्षकों की निगाहे टिकीं हैं। सवाल ये भी उठ रहे हैं कि क्या सांसद शत्रुघ्न सिन्हा व सांसद कीर्ति आजाद विपक्षी प्रत्याशी मीरा कुमार के समर्थन में क्रॉस वोटिंग कर सकते हैं! विपक्षी प्रत्याशी मीरा कुमार, दोनों भाजपाई सांसदों के गृह प्रदेश से उम्मीदवार हैं। किसी से छुपा नहीं है कि शत्रुघ्न व कीर्ति आजाद के ग्रह इन दिनों बिगड़े हुए हैं। पीएम मोदी तथा केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ करीब डेढ़ साल से दोनों सांसदों का छत्तीस का आंकड़ा चल रहा है। शत्रुघ्न सिन्हा की भी बयानबाजी से मोदी नाखुश बताए जाते हैं। उनकी भाजपा के साथ पारी लगभग समाप्ति पर हैं अब देखना यह भी है कि 17 जुलाई के मतदान में दोनों सांसद कौन सा दांव चलेंगे?

इस बीच राष्ट्रपति चुनाव में अब केवल 12 दिन शेष बचे हैं। राजग ने विपक्ष में सेंध लगाकर साढ़े तीन लाख से ज्यादा की बढ़त से रामनाथ कोविंद की जीत का गणित बैठा लिया है। इतना ही नहीं उपराष्ट्रपति चुनाव में भी राजग का पलड़ा भारी रहेगा। केरल की चार, तामिलनाडू की तीन सहित लगभग 9 पार्टियों का कोई सांसद अथवा विधायक नहीं है। रामनाथ कोविंद ने 28 दलों के समर्थन के साथ नामांकन दाखिल किया था। इसमें चार दल राजग से बाहर के थे। उधर, मीरा कुमार के हक में जो विपक्षी दल जुटे हैं उनकी तादाद 17 है इनमें सबके पास सांसद या विधायक हैं।

इसके समानांतर राजग के तम्बू तले राजनीति कर रहे रिपब्लिक पार्टी ऑफ इंडिया के रामदास आठवले एक अकेले सांसद हैं। हिन्दुस्तान आवास मोर्चा के खुद विधायक जीतत राम मांझी भी एक अकेले वोटर हैं। इस बीच भाजपा विपक्षी दलों में सेंध लगाकर कोविंद के पक्ष में 70 प्रतिशत वोट हासिल करने की कोशिश में हैं। मोदी की अपील पर राज्यसभा के छह निर्दलीय सांसदों राजीव चन्द्रशेखर, परिमल नाथवानी, सुभाष चन्द्रा, सदानंद काकड़े, अमर सिंह व ए.टी. स्वामी भी राजग द्वारा घोषित उम्मीदवारों के समर्थन में वोट देंगे। राकांपा का एक बड़ा वर्ग मीरा के खिलाफ बताया जा रहा है। ममता बनर्जी के भी कुछ विधायक कांग्रेस से खुन्नस के कारण मीरा के विरुद्ध क्रॉस वोटिंग कर सकते हैं। इनेलो भी राजग के पक्ष में मतदान करेगा।

– दिनेश शर्मा