ससुर-साले पर दामाद का ब्लैड अटैक


पूर्वी दिल्ली: रुपयों के लालच में पहले तो एक लोभी पति ने रातभर पत्नी की पिटाई की, अगले दिन ससुर और साला सुलह कराने पहुंचे तो दामाद ने उन पर धारदार ब्लैड से जानलेवा हमला कर दिया। दोनों बुरी तरह घायल हो गए। घायलों की पहचान हरजिंदर सिंह (48) और मन्नी (20) के तौर पर हुई है। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी दामाद युवराज (21) फरार है। उधर युवराज के पिता नरेश ने भी युवती के पिता व भाई पर हमला करने का आरोप लगाया है। इस पर पीडि़त युवती का कहना है कि उसके ससुर ने खुद अपने हाथ पर ब्लैड मारा है। ऐसा करके वह अपने बेटे की करतूत छिपाना चाहता है। पुलिस ने पीडि़त मुस्कान (21) का भी मेडिकल करवाया है। मामला गीता कॉलोनी इलाके का है। फिलहाल मामले पर जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी कुछ भी बोलने से बचते रहे। मुस्कान ने बताया कि गत एक जनवरी को उसने युवराज के साथ घरवालों की मर्जी से प्रेम विवाह किया था। शादी के कुछ समय बाद उसे पता चला कि युवराज को सट्टा खेलने की आदत है।

जिसको लेकर दोनों में लड़ाई शुरू हो गई। आरोप है कि वह अक्सर रुपए हारने के बाद मायके से रुपए लाने के लिए दबाव डालता था। कई बार उसने उसे रुपए लाकर भी दिए, लेकिन युवराज की मांग बढ़ती गई। गत शनिवार रात भी सट्टे में हारने के बाद उसे मायके से पैसे लाने के लिए कहा, लेकिन मुस्कान ने इंकार कर दिया। इस पर आरोपी ने उसे पीटना शुरू कर दिया। युवती फोनकर मामले की जानकारी अपने पिता को दी। इस पर वह रात को ही उसे अपने घर ले गए। अगले दिन सुबह करीब 11 बजे हरजिंदर अपने भतीजे मन्नी के साथ सुलह कराने के लिए शिव पुरी स्थित युवराज की दुकान पर पहुंचे। जहां बातचीत के दौरान युवराज और नरेश ने उनपर गाड़ी काटने के लिए इस्तेमाल होने वाले ब्लैड से हमला कर युवराज मौके से फरार हो गया।

पुलिस ने घायलों को इलाज के लिए स्वामी दयानंद अस्पताल पहुंचाया। जहां हरजिंदर के शरीर पर करीब 180 टांके लगाकर उन्हें जीटीबी अस्पताल रेफर कर दिया गया है। वहीं मन्नी की गर्दन के पास 12 टांके लगाकर छट्टी दे दी गई है। इस पूरे मामले पर आरोपी नरेश का कहना है कि हरजिंदर हथियार बंद लोगों के साथ उसे पीटने आए थे। वह दुकान पर अकेला था। इसपर पीडि़त पक्ष का कहना है कि अगर चार-पांच लोग उन्हें मारने जाएंगे तो उसने केवल तीन टांके आएंगे और मारने गए को 180। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

– कुणाल कश्यप