सुनंदा मामला: तीन वर्ष से बंद होटल के कमरे को खोलने का आदेश


sunanda

नई दिल्ली: कांग्रेसी नेता शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर मामले में अदालत ने पुलिस को उस फाइव स्टार होटल का कमरा खोलने के आदेश दिए हैं जिसमें सुनंदा की मौत हुई थी। मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट धर्मेंद्र सिंह ने पुलिस से अदालत के अनुपालन संबंधी रिपोर्ट 26 सितंबर तक दाखिल करने का आदेश दिया है। साथ ही यह भी आदेश दिया है कि जांच के उद्देश्य से वह कमरे में रखे उन सभी सामानों को अपने साथ ले जा सकते हैं।

पुलिस के ढुलमुल रवैये को लेकर चार सितंबर को अदालत ने पुलिस को जमकर फटकार लगायी थी। होटल प्रबंधन की ओर से इस होटल के कमरे को खोलने की मांग की गई थी। अदालत ने कहा कि पुलिस के ढुलमुल रवैये के कारण होटल प्रबंधन को पहले ही काफी नुकसान हो चुका है। जांच के नाम पर होटल को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा। हालांकि पुलिस ने कमरा खोलने को लेकर और समय देने की मांंग की थी ताकि फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम छानबीन कर सके। हाल में इसकी टीम कमरे में पहुंचकर कई सबूत एकत्रित किए। उसकी रिपोर्ट आनी बाकी है। इससे पहले 21 जुलाई को अदालत ने कमरे को खोलने के आदेश दिए थे। गौरतलब है कि होटल ने दावा किया था कि कमरे की सीलिंग के कारण उसे बीते तीन वर्ष में 50 लाख रुपए का नुकसान झेलना पड़ा।