सार्वजनिक शौचालयों की स्थिति नारकीय


नई दिल्ली: बाहरी दिल्ली के नजफगढ़ क्षेत्र में सार्वजनिक शौचालयों की इस कदर हालत खराब है कि उनका इस्तेमाल तो दूर वहां खड़ा होना भी दूभर है। नजफगढ़ मार्किट में आसपास के गांवों के लोग खरीदारी के लिए आते हैं। मार्किट में महिला शौचालयों की कमी तथा जो हैं, उनकी दुर्दशा से महिलाओं को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसी के मद्देनजर जनशक्ति एकता संघ व आरडब्ल्यूए इकाई ने लोगों को जागरूक कर, प्रशासन को जगाने की मुहिम चलाई है ताकि बीमारियों का घर बन चुके इन शौचालयों के प्रयोग से दूर रहें और प्रशासन इनकी स्थिति को सुधारने की ओर ध्यान दे। जनशक्ति एकता संघ के अध्यक्ष अमित गौड़ ने कहा कि इस मुहिम में संगठन के साथियों के साथ मुख्यत: शुभम पराशर, पंकज यादव, सुरेन्द्र सिंह, मनीष मुद्गल, अमित सिंह, आनंद सिंह, गुलशन गिरधर, प्रधान धर्मपाल यादव, बलजीत देसवाल अपना योगदान दे रहे हैं। उन्होंने बताया कि इन शौचालयों में पानी की कोई सुविधा नहीं है, पानी के नल गायब हैं, साफ-सफाई कभी होती ही नहीं है।

मुख्यत: महिला शौचालयों का कुछ जगह तो पुरुष इस्तेमाल कर रहे हैं और कहीं इतनी गंदगी है कि इनका इस्तेमाल किया तो बीमारी को न्यौता देने के समान है। इन शौचालयों के दरवाजे टूटे हुए हैं, न कोई दिशा-निर्देश है कि ये महिला शौचालय है, न कोई लाइट का प्रावधान है, न ही किसी महिला सहयोगी की तैनाती रहती है। कुछ शौचालयों में शराब की खाली बोतलें पड़ी रहती हैं। ढांसा स्टैंड शौचालय के ठीक सामने एमसीडी नजफगढ़ का आफिस है।

इस शौचालय की शुरूआत में ही एक बड़ा सीवर खुला हुआ है, जो किसी बड़ी दुर्घटना को आमंत्रित कर रहा है। इसके अलावा छावला बस स्टैंड, नांगलोई बस स्टैंड, हैल्थ सैंटर के पास के शौचालयों की स्थिति भी नारकीय है। उन्होंने बताया कि नजफगढ़ में आसपास के गांवों का मुख्य बाजार है, रोज हजारों लोग नजफगढ़ आते हैं और इन बीमारी से भरे हुए शौचालयों का प्रयोग करते हैं। ये सब कई साल से प्रशासन के सामने हो रहा है, परन्तु इस पर आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने बताया कि हाल में निर्वाचित पार्षद से भी संगठन ने इस बारे में बात की। उन्होंने कार्रवाई का आश्वासन दिया है। जनशक्ति एकता संघ पहले भी नजफगढ़ में सार्वजनिक स्थानों पर कूड़ेदान लगवा कर और एमसीडी के साथ मिलकर स्वच्छता अभियान में अपना योगदान देता रहा है और इसी कड़ी में संगठन ने नजफगढ़ में स्वच्छ शौचालय अभियान का कदम उठाया है।