गरीबों को पेट पालने को लिए करना पड़ रहा है संघर्ष: माकन


नई दिल्ली: दिल्ली प्रद्रेश कांग्रेस कमेटी ने जीएसटी व वस्तुओं के बढ़ते दामों के खिलाफ दिल्ली भर में 42 मुख्य बाजारों में विरोध प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शनों के चौथे दिन करोल बाग जिला में टैंक रोड, कपड़ा मार्केट करोल बाग, रोहिणी जिला में जहांगीर पुरी मार्केट, बी ब्लॉक और किरारी जिला बबूसा चौक पॉकेट 13, सेक्टर 24 रोहिणी में प्रदर्शन किए गए व महंगाई का पुतला फूं का गया। प्रदर्शनकारी महंगाई की मार, टमाटरों ने की आंखें की लाल और प्याज ने निकाले आंसू, 70 साल में पहली बार-रोटी कपड़े पर टैक्स की मार आदि नारे लगा रहे थे। दिल्ली प्रद्रेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन ने कहा कि लोगों की रोजमर्रा की जरुरत की वस्तुओं के दाम दिन प्रतिदिन बढ़ रहे हैं परंतु न तो केन्द्र की भाजपा सरकार और न ही दिल्ली सरकार इन पर लगाम लगाने के लिए कोई ठोस कदम उठा रही है। जबकि भाजपा और आप पार्टी दोनों ने चुनाव से पहले बड़े-बड़े दावे किए थे कि ये दोनों पार्टियां महंगाई कम कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि आज गरीब की थाली से टमाटर और प्याज जैसी सब्जियां गायब हो रही है। माकन ने कहा कि कांग्रेस ने अपने कार्यकाल में जब कभी भी करों को लेकर कोई नीति बनाई तो उसके तहत रोटी, कपड़ा और मकान को करों के दायरे से बाहर रखा गया परन्तु भाजपा ने जीएसटी को गलत तरीके से लागू करके आम जन की रोटी, कपड़ा और मकान पर कर लगाकर महंगा कर दिया है। जीएसटी के लगने के बाद अस्पतालों में इलाज कराना महंगा हो गया है। इसी प्रकार लोगों के द्वारा ली जाने वाली शिक्षा भी महंगी हो गई है, घरों की कीमत एक तिहाई और बढ़ गई है, पुराने वाहनों की बिक्री पर 43 प्रतिशत ओर अधिक कर देना पड़ रहा है।