चोर गिरोह का पर्दाफाश, 18 मोटरसाइकिल बरामद


दक्षिणी दिल्ली: नेब सराय थाना पुलिस ने वाहन चोरी करने वाले एक अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश कर वाहन चोरी के 19 मामलों को सुलझाने का दावा किया है। पुलिस ने दो वाहन चोर सहित एक नाबालिग को पकड़ा है। आरोपियों से 18 चोरी की मोटरसाइकिल भी बरामद की गई हैं। चोरी के लिए स्पलेंडर और डिस्कवर मोटरसाइकिल इनकी पहली पसंद थी। खास बात यह है कि 50 हजार की कीमत वाली मोटरसाइकिल को वाहन चोर पांच से दस हजार रुपए में बेचकर चलते बनते थे। चोरी का वाहन बेचने के लिए दूधियाओं से संपर्क करते थे जिनकी नंबर प्लेट अक्सर दिखाई नहीं देती और पुलिस वाहनों की जांच के दौरान उन्हें स्थानीय होने के नाते रोकता भी नहीं है।

दक्षिण जिले के डीसीपी ईश्वर सिंह के मुताबिक एसीपी महरौली जिम्मी चिरम के निर्देशन में नेब सराय के थानाध्यक्ष कुलदीप सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर राजीव कुमार, एसआई तालिब खान, हवलदार मनोज, सिपाही मनोज और प्रेम की टीम ने यह सफलता हासिल की है। पुलिस टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर गत 11 जुलाई को साकेत डीसी कार्यालय के निकट से बदरपुर की ओर से महरौली जा रहे बाइक पर सवार दो युवकों को रोका। इस पर दोनों वापस मुड़कर भागने लगे जिन्हें पुलिस ने दबोच लिया। उनसे बरामद मोटरसाइकिल 2014 में नेब सराय से चोरी की गई थी। आरोपियों की पहचान अलीगढ़ निवासी रिंकू चौधरी और पपुआ के रूप में की गई है। इनसे पूछताछ के आधार पर पुलिस ने चोरी की 17 और मोटरसाइकिल बरामद कर लीं। इनमें से आठ नेब सराय और चार फतेहपुर बेरी थाना इलाके से चोरी की गई थीं। पुलिस आरोपियों का पुराना रिकॉर्ड भी खंगाल रही है।