मनचलों की रोकथाम के लिए स्कूलों में तैनात होंगे तीन-तीन गार्ड


नई दिल्ली: दिल्ली के स्कूलों में ग्रीष्मकालीन छुट्टियां खत्म हो रही हैं और शनिवार से स्कूलों में पढ़ाई शुरू हो जाएगी। इस बीच दिल्ली सरकार ने स्कूल की छुट्टी के वक्त लड़कियों के साथ होने वाली छेड़छाड़ रोकने के लिए नई कसरत की है। नई योजना के तहत स्कूल के मुख्य द्वार पर जहां पहले एक सुरक्षा गार्ड तैनात रहता था, वहीं अब गेट पर कम से कम तीन गार्ड तैनात होंगे। दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक विद्यालय शिक्षा का केंद्र है, वहां आए दिन छात्राओं के साथ छेड़छाड़ के मामले सामने आते थे। इसलिए सरकार ने यह कदम उठाया है।

आमतौर पर यह देखा जाता है कि स्कूलों में लड़कियों की छुट्टी होने से पहले मनचलों का वहां डेरा लगना शुरू हो जाता है। मनचले वहां से आने-जाने वाली लड़कियों के साथ छेड़छाड़ करते हैं। यदि उन्हें ऐसा करने से रोकते हैं तो वे लड़ाई-झगड़े पर उतारू हो जाते हैं। इतना ही नहीं स्कूलों के आसपास रहने वाले लोगों ने भी कई बार इसकी शिकायत की, लेकिन कोई सुधार नहीं हो सका। शिक्षा विभाग के अधिकारी के मुताबिक प्रत्येक स्कूल के मुख्य द्वारा पर तीन गार्ड नियुक्त किए जाएंगे।

यदि किसी बाहरी शख्स को स्कूल परिसर में जाना है तो पहले उसकी रजिस्टर पर एंट्री करवाई जाएगी। इसके बाद ही किसी को स्कूल में प्रवेश करने दिया जाएगा। लेकिन देखने वाली बात यह है कि स्कूल से लड़कियों के घर लौटते वक्त मनचले बाइक और पैदल लड़कियों का पीछा करते हैं। आखिर उसकी रोकथाम के लिए भी ठोस कदम उठाने होंगे। इसके लिए लोकल पुलिस को भी कमर कसनी होगी क्योंकि मनचले कई बार महिला शिक्षकों को भी नहीं छोड़ते हैं।

– सिमरनजीत सिंह