मायावती को समझाने का बहुत प्रयास किया : आजाद


नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तथा राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि उन्होंने बहुजन समाजवादी पार्टी(बसपा) नेता मायावती को समझाने का बहुत प्रयास किया लेकिन वह नहीं मानी और राज्य सभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। श्री आजाद ने आज पत्रकारों से कहा सुश्री मायावती सदन में अपनी बात रखने का मौका नहीं मिलने से बहुत दुखी थीं।

मैं उन्हें समझाने का बहुत प्रयास करता रहा लेकिन वह अत्यधिक आहत थीं और उन्होंने मेरी बात नहीं मानी और इस्तीफा दे दिया। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी दलित, महिला और अल्पसंख्यक विरोधी है।

देश में दलितों, अल्पसंख्यकों तथा महिलाओं के साथ अत्याचार हो रहे हैं लेकिन सरकार उनके हितों के लिए कोई कदम नहीं उठा रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसा लगता है कि भाजपा को लोगों को मारने का जनादेश मिला है इसलिए दलितों तथा अल्पसंख्यकों के खिलाफ हो रहे अत्याचारों पर वह चर्चा भी नहीं करना चाहती है।