पुराणों की मदद से चलेगी लवकुश लीला


नई दिल्ली: विश्व के इतिहास में पहली बार लालकिला लवकुश रामलीला मैदान के भव्य मंच पर पांच पुण्य ग्रंथों व पुराणों के अंशों की मदद से रामलीला का 11 दिन मंचन होगा। श्री रामलीला महासंघ के प्रधान सुखवीर शरण अग्रवाल ने लवकुश के प्रधान अशोक अग्रवाल के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह भी खास मौका है जब मुम्बई व दक्षिण के कई फिल्म स्टार लीला के थोक में पात्र बनेंगे। अशोक अग्रवाल ने आज बताया कि रामायण के अलावा शिव पुराण, विष्णु पुराण, नारद पुराण, श्रीमद देवी भागवद पुराण आदि पांच पूज्य ग्रंथों के माध्यम से 55 घंटे की पटकथा लिखवाई गई है।

मंत्री अर्जुन कुमार के अनुसार 21 सितम्बर को लीला का शुभारम्भ होगा तथा 30 सितम्बर को दशहरा पर्व मनाया जाएगा। लीला का प्रतिदिन पांच घंटे मंचन होगा। लवकुश के प्रधान अशोक अग्रवाल ने ये जानकारी भी दी कि टी.वी. धारावाहिक संकट मोचन के हनुमान के छात्र लक्ष्मण की भूमिका अरुण मनडोला निभाएंगे। फिल्म अभिनेता राकेश बेदी थुंगी महाराज, रणजीत दैत्य सुबाहू, रमेश गोयल दैत्य दूषण का किरदार निभा रहे हैं। दैत्य खर का रोल निभा रहे अवतार गिल को भगवान परशुराम की भूमिका भी निभाने का दायित्व सौंपा गया है। सुखबीर शरण अग्रवाल का दावा है कि इस रामलीला के जरिये सम्पूर्ण तथ्यों को प्रस्तुत करने की कोशिश की जा रही है।

(दिनेश शर्मा)